"सदस्य वार्ता:अनुनाद सिंह" के अवतरणों में अंतर

टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
== [[मैथिलीशरण गुप्त]] पृष्ठ पर आपके सम्पादन ==
{{सुनो|अनुनाद सिंह}}जी मैंने [[मैथिलीशरण गुप्त]] पृष्ठ पर आपके सम्पादनों को देखा। मैंने उन्हें पूर्ववत इसीलिए किया क्योंकि पूर्व ही स्रोतों का अभाव है और यदि आप और जानकारी जोड़ रहे हैं तो उसके लिए यथोचित स्रोत भी दें। आपने जोड़े तो 27,000 शब्द और स्रोत दिया केवल एक। मेरा यह स्वप्न है कि [[मैथिलीशरण गुप्त]] पृष्ठ को विकीपरियोजना साहित्य के निर्वाचित लेखों में स्थान मिले और अगर स्रोत कम होंगे तो ऐसा नहीं हो पाएगा इसीलिए जब भी जानकारी छोड़ें स्रोत भी दें। उचित तो यही होगा कि [[मैथिलीशरण गुप्त]] पृष्ठ को मेरे संरक्षण में छोड़ दें और दूसरे पृष्ठों पर सम्पादन करें। धन्यवाद। [[सदस्य:वल्लभ|वल्लभ]] ([[सदस्य वार्ता:वल्लभ|वार्ता]]) 15:02, 20 अप्रैल 2019 (UTC)
== सदस्य समूह पुनर्गठन प्रक्रिया में शामिल होने से संबंधित ==
प्रिय अनुनाद जी!, मैं आपके कार्यों से परिचित हूँ इसलिए आपका बहुत सम्मान करता हूँ। मैं योगेश जी की स्वयं को उम्मीदवारी से मुक्त करने की बात स्वीकार कर सकता हूँ यदि मुझसे योग्य कोई व्यक्ति इसके लिए आगे आए। वह व्यक्ति फिलहाल आप हो सकते हैं। आशीष जी यह दायित्व निभा चुके हैं। अन्य श्रेष्ठ योगदानकर्ताओं से बात करके हमने देख लिया है। वे स्वयं आगे नहीं आ रहे हैं। शायद वे अगली बार सामने आएं। इस बार सम्मेलन में शामिल होकर हमने सम्मेलन के नाम पर होने वाली दुकानदारी पर लगाम लगायी है। आप जैसे अबाध और अथक परिश्रम करने वाले हिंदी विकि सदस्यों के योगदानों के बिना कहे प्रतिनिधि तथा दावेदार बनकर विकि आयोजनों में प्रतिभागिता करने वालों तथा मोटी तनख्वाह उठाने वालों और इन सबके बदले हिंदी विकि को कुछ भी महत्वपूर्ण नहीं देने वालों ने हमें हिंदी विकि के लिए उपलब्ध हो सकने वाले संसाधनों के बेहतर और व्यवस्थित उपयोग तथा उसमें सच्चे विकि योगदानकर्ताओं की भागीदारी के लिए सुनियोजित प्रयास करने को बाध्य किया है।
सदस्य समूह पुनर्गठन प्रक्रिया विकि सुधारों की दिशा में ही उठाया गया कदम है जिसमें आपके सहयोगी होने की उम्मीद है। मेरा अनुभव कहता है कि आप इसमें शामिल होना नहीं चाहेंगें। लेकिन यदि यह गलत है और आप तीन संपर्क सूत्रों में से एक होना चाहें तो मुझसे अधिक खुशी किसी को नहीं होगी। इसकी जरूरत हमें कोलकाता सम्मेलन के दौरान भी महसूस हुई थी और अजीत के जर्मनी बैठक में भागीदारी के दौरान भी। जो सर्वश्रेष्ठ प्रक्रिया अपनायी जा सकती थी वह हमने अपनायी है। प्रक्रिया पर प्रश्न उठाने वाले सदस्य की प्रक्रिया के पालन में रुचि का अंदाजा हमें कलकत्ता सम्मेलन में बिलों के भुगतान में प्रक्रिया पालन के प्रति दिखाए गए उनके रवैए से बखूबी हो चुका है। सम्मेलन की रिपोर्ट एवं संबंधित दस्तावेजों के अगले महीने तक सार्वजनिक होने पर आपको भी इसका परिचय मिल जाएगा। फिलहाल मैं सचमुच उनके विरोध को विचारणीय नहीं समझता हूँ। हाँ यदि आपको उनके विरोध से इतर कोई विचारणीय बिंदु दिखाई देता है तो वह हमारे लिए गंभीर चिंतन का विषय जरूर होगा। [[सदस्य:अनिरुद्ध!|अनिरुद्ध!]] ([[सदस्य वार्ता:अनिरुद्ध!|वार्ता]]) 17:04, 28 अप्रैल 2019 (UTC)