वृष्णि चंद्रवंशी क्षत्रिय के महान राजा थे। राजा वृष्णी यदुकुल श्रेष्ठ यदु के बेटे थे। उन्हीं से यादवो की शाखा [वृष्णीवंश] या {कृष्णोत} के नाम से जाना जाता है। भगवान श्री कृष्ण का जन्म भी इसी वृष्णी वंश में हुआ था। जिसके पश्चात इस पवित्र वृष्णि वंशी यादव को कृष्णोत(कृष्ण के संतान) के नाम से भी जाना जाता है। वेदव्यास लिखित श्री हरिवंश पुराण में इनके और इनके वंश के बारे में और जानकारी उपलन्ध है।

सन्दर्भसंपादित करें