सत्यजीत पांचाल नरेश द्रुपद का पुत्र और, धृष्टद्युम्न और द्रौपदी का भाई था। इसके अतिरिक्त उसके अन्य भाई थे, उत्तमानुज और युद्धमन्यु और शिखंडी

महाभारत के युद्ध में वह पाण्डव सेना की ओर से लडा।सत्यजीत का वध द्रोणाचार्य के हाथों हुआ था।


बाहरी सम्पर्क

संपादित करें