ह्मार लोग (Hmar) भारत के पूर्वोत्तर भाग के कई राज्यों में बसने वाले एक समुदाय का नाम है। इस नाम में कई चिन-कुकी-मिज़ो समुदाय सम्मिलित हैं। ह्मार का अर्थ "उत्तरी" होता है और ऐतिहासिक रूप से यह समुदाय लुशाई समुदायों से उत्तर में रहा करता था, हालांकि इस नामोत्पत्ति पर विवाद है और कुछ विद्वानों के अनुसार यह सिर पर बाल बाँधने की एक शैली-विशेष से आरम्भ हुआ था।[1]

ह्मार
(मार, खौथ्लांग, पुराना - कुकी)
कुल जनसंख्या
6,00,000
विशेष निवासक्षेत्र
भारत
(मणिपुर · मिज़ोरम · त्रिपुरा · असम · मेघालय)
बर्मा
(चिन राज्य · सागाइन्ग मण्डल)
बांग्लादेश
(चट्टग्राम पहाड़ी क्षेत्र)
भाषाएँ
ह्मार · मिज़ो · हिन्दी · अंग्रेज़ी
धर्म
ईसाई · यहूदी)
सम्बन्धित सजातीय समूह
लुशाई · चिन · कुकी · मिज़ो

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Hazarika, Sanjoy (1994). Strangers in the Mist. New Delhi: Viking Penguin India. पृ॰ 238. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0-670-85909-5.