चांगथंग भाषा (Changthang language), जिसे ब्यांग्स्कत (Byangskat) या ऊपरी लद्दाख़ी (Upper Ladakhi) भी कहते हैं, भारत के लद्दाख़ प्रदेश और उस से सटे हुए तिब्बत के कुछ भाग के चांगथंग क्षेत्र में बोली जाने वाली एक भोटी भाषा है। इसे बोलने वाले चांगपा कहलाते हैं और स्वयं को लद्दाख़ी लोगों के समीप समझते हैं, हालांकि चांगथंग और लद्दाख़ी बोलने वालों को एक-दूसरे की बात समझने में कठिनाई होती है।[1][2][3]

चांगथंग
Changthang, Byangskat

तिब्बत में कुछ चांगथंग-भाषी चांगपा लोग
बोलने का  स्थान लद्दाख़
तिथि / काल 2000
क्षेत्र चांगथंग
समुदाय चांगपा
मातृभाषी वक्ता 10,000
भाषा परिवार
लिपि तिब्बती लिपि
भाषा कोड
आइएसओ 639-3 cna
लुआ त्रुटि Module:Location_map में पंक्ति 422 पर: No value was provided for longitude।

इन्हें भी देखें संपादित करें

सन्दर्भ संपादित करें

  1. Trans-himalayan Caravans: Merchant Princes And Peasant Traders In Ladakh, Janet Rizvi, Oxford University Press, 2001, ISBN 9780195658170
  2. Shamanic Trance and Amnesia: With the Shamans of the Changpa Nomads in Ladakhi Changthang, Ina Rösing, Sonam Norboo Spurkhapa, pp. 52, Concept Publishing Company, 2006, ISBN 9788180692475
  3. High Altitude Medicine and Physiology, John Burnard West, Robert B. Schoene, James S. Milledge, pp. 33, CRC Press, 2007, ISBN 9780340913444