मुख्य मेनू खोलें

तारिक़ फ़तह (पंजाबी: طارق فتح (शाहमुखी), जन्म 20, 1949), पाकिस्तानी मूल के कनाडाई लेखक,[1] प्रसारक एवं सेक्युलर उदारवादी कार्यकर्ता हैं।[2] चेजिंग अ मिराज : द ट्रैजिक इल्लुझ़न ऑफ़ ऐन इस्लामिक स्टेट (Chasing a Mirage: The Tragic Illusion of an Islamic State) उनकी प्रसिद्ध कृति है।

तारिक़ फ़तह
TarekFatahstanding.jpg
तारिक़ फ़तह
जन्म November 20, 1949 (age 64)
राष्ट्रीयता कनाडाई
जातीयता पंजाबी
व्यवसाय राजनैतिक कार्यकर्ता, लेखक, प्रसारक (broadcaster)

तारिक़ फ़तह इस्लामी अतिवाद के ख़िलाफ़ बोलने और एक उदारवादी इस्लाम के पक्ष को बढ़ावा देने के लिये प्रसिद्ध हैं।[3] तारिक़ फ़तह दक्षिण एशिया और विशेष रूप से कट्टरपंथी भारतीय और पाकिस्तानी मुसलमानों की अलगाववादी संस्कृति के विरुद्ध भी बोलते हैं,[4] तथा वे समलैंगिक व्यक्तियों के सामान अधिकारों और हितों के भी पक्षधर हैं। साथ ही वे बलोचिस्तान में मानवाधिकार के हनन और पाकिस्तान द्वारा बलोचिस्तान में किये जा रहे ज़्यादतियों के विषय पर भी बोलते और लिखते हैं, और 'आज़ाद बलोचिस्तान' के पक्षधर के रूप में भी जाने जाते हैं। उन्होंने कनाडाई मुस्लिम कांग्रेस का स्थापना किया और वे इस्लाम का उदारवादी और प्रगतिशील रूप के समर्थक हैं। वे ज़ी न्यूज़ के फ़तह का फ़तवा कार्यक्रम में इस्लाम पर लगातार अपना नजरिया पेश करते आ रहे हैं।[5][6]

पाकिस्तानी व्यवस्थापिका तथा इस्लामिक कट्टरपंथ, एवं इस्लामिक इतिहास और कुछ परंपराओं के विषय में बोलने के कारण, उनके विचार, अक्सर बहस और विवाद का पात्र रहते हैं।

आरंभिक जीवनसंपादित करें

तारिक़ फ़तह का जन्म 1949 में कराची, पाकिस्तान में एक पंजाबी परिवार में हुआ था जो 1947 में भारत का विभाजन के बाद मुंबई से कराची चले गए थे।[7] उनका जन्म कराची में हुआ लेकिन वे पंजाबी मूल के हैं।[8] उन्होंने कराची विश्वविद्यालय से जीव-रसायन (बायोकेमिस्ट्री) में शिक्षा प्राप्त की। कनाडा में अपना घर बसाने से पहले उनका परिवार साउदी अरब में कुछ साल रहा था।

विचारसंपादित करें

पाकिस्तान परसंपादित करें

उनका दृढ मत है कि पाकिस्तान विश्व में आतंकवाद का प्रायोजक है।[9]

इस्लाम परसंपादित करें

पाकिस्तानी सेना परसंपादित करें

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "FATAH: How my cancer saved my life".
  2. "Why I won't celebrate India's independence".
  3. "मुझसे भारत के मुसलमान नहीं मौलवी चिढ़ते हैं: तारेक़ फतह".
  4. "Islamic world hypocritical about Rohingya Muslims".
  5. "विवादों के क़िले फ़तह करने वाले तारेक़".
  6. देवबंद से तारिक फतेह को बहस की चुनौती
  7. "FATAH: Memories of my first Christmas with Uncle Joe in Karachi".
  8. "Who is Tarek Fatah?".
  9. पाकिस्तान प्रायोजित कर रहा है विश्व का आतंकवाद : तारेक फतेह

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें