भारत चीन के बाद विश्व का दूसरा सबसे बडी जनसंख्या वाला देश है। भारत की विभिन्नताओं से भरी जनता में भाषा, जाति और धर्म, सामाजिक और राजनीतिक संगठन के मुख्य शत्रु हैं। मुम्बई (पहले बॉम्बे), दिल्ली, कोलकाता (पहले कलकत्ता) और चेन्नई (पहले मद्रास), भारत के सबसे बङे महानगर हैं।

प्रसिद्ध भारतीय

भारत में ६४.८ प्रतिशत साक्षरता है जिसमे से ७५.३ % पुरुष और ५३.७% स्त्रियाँ साक्षर है। लिंग अनुपात की दृष्टि से भारत में प्रत्येक १००० पुरुषों के पीछे मात्र ९३३ महिलायें है। कार्य भागीदारी दर (कुल जनसंख्या मे कार्य करने वालों का भाग) ३९.१% है। पुरुषों के लिये यह दर ५१.७% और स्त्रियों के लिये २५.६% है। भारत की १००० जनसंख्या में २२.३२ जन्मों के साथ बढती जनसंख्या के आधे लोग २२.६६ वर्ष से कम आयु के हैं।

यद्यपि भारत की ८०.५ प्रतिशत जनसंख्या हिन्दू है, १३.४ प्रतिशत जनसंख्या के साथ भारत विश्व में मुसलमानों की संख्या में भी इंडोनेशिया और पाकिस्तान के बाद तीसरे स्थान पर है। अन्य धर्मावलम्बियों में ईसाई (२.३३ %), सिख (१.८४ %), बौद्ध (०.७६ %), जैन (०.४० %), अय्यावलि (०.१२ %), यहूदी, पारसी, अहमदी और बहाई आदि सम्मिलित हैं।

भारत चार मुख्य भाषा सूत्रों, इनदो-यूरोपीयन, द्रविङियन्, सिनो-टिबेटन और औसटरो-एजियाटिक का भी स्रोत है। भारत का संविधान कुल २३ भाषाओं को मान्यता देता है। हिन्दी और अंग्रेजी केन्द्रीय सरकार द्वारा सरकारी कामकाज के लिये उपयोग की जाती है। संस्कृत, तमिल, कन्नड़ और तेलुगु जैसी अति प्राचीन भाषाऐं भारत में ही जन्मी हैं। कुल मिलाकर भारत में १६५२ से भी अधिक भाषाऐं एवं बोलियां बोली जातीं हैं।

दक्षिण एशियाई लोगों के जीनोम और प्रमुख वंश यूरोपीय, अरब और बर्बर आबादी से निकटता से संबंधित हैं और वे या तो पश्चिमी एशिया या दक्षिण एशिया में ही उत्पन्न हुए हैं। भारतीय आबादी मुख्य रूप से कोकसॉइड जाति से संबंधित है और यूरोपीय, अरब और उत्तरी अफ्रीकी आबादी से निकटता से संबंधित है।[1][2] मोंडल 2017 के अनुसार, थिस मजबूत आनुवांशिक संबंध प्राचीन नमूनों में भी पाया जाता है और साझा वंशावली के भारतीय मूल की ओर इशारा कर सकता है।[3] एक पूर्ण जीनोम विश्लेषण (नेचर (पत्रिका) 2019 में प्रकाशित) ने निष्कर्ष निकाला कि भारतीय, यूरोपीय, अरब और बर्बर आबादी निकटता से संबंधित हैं और इसे उप-सहारा अफ्रीकी और पूर्वी एशियाई आबादी से अलग किया जा सकता है।[4]

  1. "Tracing the biogeographical origin of South Asian populations using DNA SatNav" (PDF). Our hypothesis is supported by archaeological, linguistic and genetic evidences that suggest that there were two prominent waves of immigrations to India. A majority of the Early Caucasoids were proto-Dravidian language speakers that migrated to India putatively ~ 6000 YBP.
  2. Pakstis, Andrew J.; Gurkan, Cemal; Dogan, Mustafa; Balkaya, Hasan Emin; Dogan, Serkan; Neophytou, Pavlos I.; Cherni, Lotfi; Boussetta, Sami; Khodjet-El-Khil, Houssein (2019-12). "Genetic relationships of European, Mediterranean, and SW Asian populations using a panel of 55 AISNPs". European Journal of Human Genetics. 27 (12): 1885–1893. PMC 6871633. PMID 31285530. आइ॰एस॰एस॰एन॰ 1018-4813. डीओआइ:10.1038/s41431-019-0466-6. |date= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)
  3. Mondal, Mayukh; Bergström, Anders; Xue, Yali; Calafell, Francesc; Laayouni, Hafid; Casals, Ferran; Majumder, Partha P.; Tyler-Smith, Chris; Bertranpetit, Jaume (2017-05-01). "Y-chromosomal sequences of diverse Indian populations and the ancestry of the Andamanese". Human Genetics (अंग्रेज़ी में). 136 (5): 499–510. आइ॰एस॰एस॰एन॰ 1432-1203. डीओआइ:10.1007/s00439-017-1800-0.
  4. Pakstis, Andrew J.; Gurkan, Cemal; Dogan, Mustafa; Balkaya, Hasan Emin; Dogan, Serkan; Neophytou, Pavlos I.; Cherni, Lotfi; Boussetta, Sami; Khodjet-El-Khil, Houssein (2019-12). "Genetic relationships of European, Mediterranean, and SW Asian populations using a panel of 55 AISNPs". European Journal of Human Genetics. 27 (12): 1885–1893. PMC 6871633. PMID 31285530. आइ॰एस॰एस॰एन॰ 1018-4813. डीओआइ:10.1038/s41431-019-0466-6. |date= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)