मुख्य मेनू खोलें

शतपथ ब्राह्मण शुक्ल यजुर्वेद का ब्राह्मणग्रन्थ है। ब्राह्मण ग्रन्थों में इसे सर्वाधिक प्रमाणिक माना जाता है। इसे याज्ञवल्क्य ने लिखा है |

अनुक्रम

रचनासंपादित करें

भाषाई रूप से, शतपथ ब्राह्मण वैदिक संस्कृत की ब्राह्मण काल के बाद के हिस्से से संबंधित है (यानी लगभग 8 वीं से 6 वीं शताब्दी ईसा पूर्व, आयरन एज इंडिया)।

शतपथ ब्राह्मण में गणितसंपादित करें

शुल्बसूत्रों की तरह शतपथ ब्राह्मण में भी यज्ञ की वेदियाँ तथा अन्य ज्यामितीय रचनाएँ बनाने की विधियाँ दी गयीं हैं।और यह समाज मे

सन्दर्भसंपादित करें

बाह्य संदर्भसंपादित करें