मुख्य मेनू खोलें

अभिमान (1973 फ़िल्म)

1973 की ऋषिकेश मुखर्जी की फ़िल्म

अभिमान 1973 में बनी हिन्दी भाषा की संगीतमय नाट्य फिल्म है। इसमें अमिताभ बच्चन, जया बच्चन, असरानी और बिन्दू हैं। इसे ऋषिकेश मुखर्जी ने निर्देशित किया था। मजरुह सुल्तानपुरी द्वारा लिखित और सुप्रसिद्ध गायक मोहम्मद रफी, लता मंगेशकर और किशोर कुमार द्वारा गाए गए और सचिन देव बर्मन द्वरा संगीतबद्ध किए गए इस फिल्म को संभवतः इसके गानों के लिए सबसे ज्यादा याद किया जाता है।

अभिमान
निर्देशक ऋषिकेश मुखर्जी
निर्माता सुशीला कामत,
पवन कुमार
लेखक ऋषिकेश मुखर्जी
अभिनेता अमिताभ बच्चन,
जया बच्चन,
असरानी,
बिंदू,
दुर्गा खोटे,
ए के हंगल
संगीतकार सचिन देव बर्मन
मजरूह सुलतानपुरी (गीत)
छायाकार जयवंत पठारे
संपादक दास धैमाड़े
प्रदर्शन तिथि(याँ) 27 जुलाई, 1973
समय सीमा 122 मिनट
देश भारत
भाषा हिन्दी

फिल्म ने उस समय प्रकाशित बॉलीवुड व्यापार पत्रिका के अनुसार बॉक्स ऑफिस पर औसत कारोबार किया। जया बच्चन ने अभिमान के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का फिल्मफेयर पुरस्कार जीता। कुछ समीक्षकों अनुसार ये फिल्म सितार वादक रवि शंकर और अन्नपूर्णा देवी के बीच परेशानी भरी शादी पर आधारित है। लेखक राजू भारतान के अनुसार, ऋषिकेश मुखर्जी ने गायक किशोर कुमार और उनकी पहली पत्नी, रूमा घोष के जीवन फिल्म की कहानी आधारित की थी।

संक्षेपसंपादित करें

सुबीर कुमार (अमिताभ बच्चन) एक पेशेवर गायक है जो समृद्धि की ओर अग्रसर है। उमा (जया भादुडी) से मिलने तक उसका शादी करने का विचार नहीं था। उमा गाँव में दुर्गा मौसी (दुर्गा खोटे) के साथ रहती है। उससे शादी कर बम्बई ला उससे गायकी का पेशा शुरू करना चाहता है। इस बीच उसकी गायकी डगमगाती है और उमा की उभरती है और अपने पति से भी प्रसिद्ध गायक बनती है। इस पर सुबीर उमा से द्वेष करने लगता है और उनके वैवाहिक जीवन में तनाव होता है। एक संवेदनात्मक मोड़ पर दोनों के बिछड़ने के बाद उमा का गर्भपात होता है। क्या सुबीर अपने अभिमान व द्वेष पर विजय पाता है?

ऋषिकेश मुखर्जी के इस श्रेष्ठतम निर्देशन में गीत तेरे मेरे मिलन की ये रैना से अन्त में दोनों का भावनात्मक मिलन दिखाया गया है।

मुख्य कलाकारसंपादित करें

दलसंपादित करें

संगीतसंपादित करें

  • गीत "तेरे मेरे मिलन की ये रैना" बिनाका गीत माला की 1973 वार्षिक सूची पर 16वीं पायदान पर रही।
  • गीत "मीत न मिलारे मनका" बिनाका गीत माला की 1973 वार्षिक सूची पर 23वीं पायदान पर रही। [1]

सभी गीत मजरुह सुल्तानपुरी द्वारा लिखित; सारा संगीत सचिन देव बर्मन द्वारा रचित।

गाने
क्र॰शीर्षकगायनअवधि
1."अब तो है तुमसे हर ख़ुशी अपनी"लता मंगेशकर4:25
2."तेरी बिंदिया रे"लता मंगेशकर, मोहम्मद रफ़ी4:32
3."तेरे मेरे मिलन की ये रैना"किशोर कुमार, लता मंगेशकर5:49
4."नदिया किनारे"लता मंगेशकर4:05
5."पिया बिना पिया बिना"लता मंगेशकर4:12
6."मीत न मिला रे मनका"किशोर कुमार4:56
7."लूटे कोई मन का नगर"लता मंगेशकर, मनहर उधास3:04

नामांकन और पुरस्कारसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें