उत्तर भारत का ऐतिहासिक क्षेत्र
ढुंढाड़

हवा महलdiv>

स्थिति राजस्थान
Flag of 19th c.
State established: 10th c.
भाषा ढूंढाड़ी
राजवंश चाँदा मीणा(till 12th c.)
कछवाहा राजपूत (967-1949)
Historical capitals खोह, दौसा, आंबेर, जयपुर
Separated states भरतपुर, अलवर, करौली, शेखावाटी(सीकर,झुन्झुनू)

ढुंढाड़ (जिसे जयपुर क्षेत्र भी कहा जाता है) राजस्थान राज्य का एक ऐतिहासिक क्षेत्र रहा है। इसे समय समय पर कछावा राज्य, आंबेर राज्य और जयपुर राज्य भी कहा गया है। यह पश्चिम राजस्थान में स्थित है। इसमें आने वाले जिले हैं:

इस क्षेत्र को अरावली पर्वत माला उत्तर पश्चिम से घेरे है और अजमेर पश्चिम में, मेवाड़ दक्षिण पश्चिम में, हड़ौती दक्षिण में एवं अलवर जिला, करौली जिला तथा भरतपुर जिला इसके पूर्व में स्थित हैं।

भूगोल संपादित करें

राजस्थान के मध्य पूर्वी भाग की प्रधान बोली है

इतिहास संपादित करें

 
जंतर मंतर, जयपुर

दूल्हेराय नामक व्यक्ति ने सर्वप्रथम कछवाह वंश की स्थापना की, 1137 ई . में खोह राज्य के मीणाओं को हराकर ढूंढाड़ राज्य को बसाया, और खोह को इसकी राजधानी बनाया था।[1] काकील देव ने आमेर राज्य के मीणाओं को पराजित कर अपनी राजधानी खोह से बदलकर आमेर कर दी।[2][3][4]

संस्कृति संपादित करें

सन्दर्भ संपादित करें

  1. "Origin Of Kachcwaha In Dhundhar Region of Rajasthan". Cite journal requires |journal= (मदद)
  2. जयपुर : रेगिस्तान में एक सपना. Classic Publishing House, 1994. पृ॰ 37.
  3. Jaigarh, the Invincible Fort of Amber. RBSA Publishers, 1990. पृ॰ 18.
  4. Jaipur: Gem of India. IntegralDMS, 2016. पृ॰ 24.