मुख्य मेनू खोलें

इस लेख का संक्षिप्त परिचयसंपादित करें

इस लेख की आरम्भिक पंक्तियाँ कुछ सीमा तक अस्पष्ट और द्विअर्थी हो गयी हैं। इसे कुछ इस तरह लिखना चाहिए-

नूर इनायत खान (उर्दू: نور عنایت خان, अँग्रेजी: Noor Inayat Khan ; 2 जनवरी 1914 - 13 सितंबर 1944) भारतीय मूल की गुप्तचर थी जिसने द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान मित्र देशों के लिए जासूसी की। उसकी उत्कृष्ट सेवाओं के लिए उसे युनाइटेड किंगडम एवं अन्य कामनवेल्थ देशों के सर्वोच्च सम्मान जॉर्ज क्रास से समानित किया गया। उनके बलिदान और साहस की गाथा ब्रिटेन और फ्रांस में खूब गाई जाती हैं।

-- अनुनाद सिंहवार्ता 09:35, 8 मार्च 2014 (UTC)

  1. अनुनाद जी से सहमति
  2. गाथा खूब गाई जाती हैं।- के लिए संदर्भ प्रारंभ में ही दें। (फिलहाल अंत में दिया है)।
  3. प्रारंभिक जीवन पैरा में एक भी संदर्भ नहीं है। जन्म तिथि, टीपू सुल्तान की वशंज आदि में संदर्भ की आवश्यकता है।

--मनोज खुराना वार्ता 10:47, 8 मार्च 2014 (UTC)

अनुनाद जी, मनोज जी,

आप दोनों का सुझाव मेरे लिए बहुमूल्य है। आपके सुझाव के अनुसार सुधारने का प्रयास करती हूँ। --माला चौबेवार्ता 11:45, 8 मार्च 2014 (UTC)

मनोज खुराना जी,

नूर टीपू सुल्तान की प्रपौत्री थी। इसका और जन्म तिथि का संदर्भ आदि जोड़ दिये गए हैं। --माला चौबेवार्ता 11:59, 8 मार्च 2014 (UTC)

लेख को निर्वाचित करने के लिए सुधार आवश्यकसंपादित करें

लेख के सन्दर्भों को सुधारने का मैंने प्रयास किया है। कुछ आवश्यक स्थानों पर सन्दर्भ माँगे गये हैं कृपया वहाँ उचित सन्दर्भ दें। इसके अतिरिक्त सन्दर्भ 5 एवं 9 (letter from Noor Khan, quoted in Rozina Visram - "Ayahs, Lascars and Princes: The Story of Indians in Britain 1700-1947", Pluto Press, 1986, p. 142) समान हैं इसी तरह अन्य सन्दर्भ [1] भी समान हैं। कृपया इन्हें हिन्दी में लिखें और एक ही बार में उपयोग किया जाये (<ref name="ref1"> टैग का प्रयोग किया जा सकता है)।

  • "ए क असाइनमेंट" क्या है?
  • लेख में विभिन्न स्थानों पर विरामचिह्नों के बाद खालीस्थान छोड़े बिना ही अगला वाक्य आरम्भ हो रहा है। विराम चिह्न आने के बाद एक स्थान खाली छोड़ा जाता है।
  • लेख में एक जगह लिखा गया है कि "इस उम्र में इतनी बहादुरी कि..."; वाक्य कुछ स्पष्ट रूप से लिखा जाये।
  • हत्या नामक अनुभाग में नूर को पहले गोली मारी गई और उसके बाद उसे डराया गया? मुझे लगता है कि यहाँ वाक्य लिखने का क्रम बदला जाना चाहिए।
  • अभी तक प्रपोत्री होने का कोई सन्दर्भ नहीं मिला है। चूँकि प्रपोत्री कहना पैतृक रिश्ते को दिखाता है जबकि वंशज शायद एक व्यापक शब्द है। अतः उपयुक्त शब्दावली प्रयुक्त करें।☆★संजीव कुमार (✉✉) 08:34, 29 मार्च 2014 (UTC)

सुधार कर दिया गयासंपादित करें

@संजीव कुमार: जी,

  • अतिरिक्त सन्दर्भ 5 एवं 9 को सही कर दिया गया है। बार-बार एक ही संदर्भ प्रयुक्त होने की स्थिति में टैग का प्रयोग कर दिया गया है। लेख में विभिन्न स्थानों पर विरामचिह्नों के बाद खालीस्थान को दुरुस्त कर दिया गया है। हत्या अनुभाग को कृपया फिर से पढ़ें, उसमें साफ-साफ लिखा है, कि पहले चारो को गोली मारने का आदेश सुनाया गया, तत्पश्चात नूर को छोडकर तीनों को गोली मारी गई ताकि वह ड़र जाये और राज उगल दे, किन्तु नूर डरी नहीं और अंतत: उसे भी गोली मार दी गई। आपके द्वारा पूर्व मे दिये गए सुझाव के आलोक में "प्रपौत्री" शब्द हटाकर "वंशज" किया जा चुका है। जब संदर्भ में क्रमश: प्रपौत्री और वंशज शब्द का प्रयोग है, तो फिर कोई और शब्द प्रयुक्त करने का क्या अभिप्राय है? उपयुक्त शब्दावली आप स्वय बता दें, जिसका प्रयोग किया जा सके। आपके परामर्श के अनुसार शेष अद्यतन किया जा चुका है। धन्यवाद।--माला चौबेवार्ता 11:00, 29 मार्च 2014 (UTC)
@Mala chaubey: कृपया सन्दर्भ 1 जैसे सन्दर्भों में {{cite web}} साँचे का प्रयोग करें। सन्दर्भ 9 और 12 का विलय करें तथा इनमें {{cite book}} अथवा किसी उपयुक्त साँचे का प्रयोग करें। सन्दर्भ 19 और 24 में भी उपयुक्त सुधार करें। मैं भी कोशिश करुंगा कि इनमें उपयुक्त सुधार करुँ।☆★संजीव कुमार (✉✉) 12:27, 9 अप्रैल 2014 (UTC)

@संजीव कुमार: जी, अस्वस्थता के कारण विगत एक सप्ताह से विकि पर सक्रिय नहीं थी, अब आ गई हूँ। आपके सुझाव के अनुरूप सुधार कर दे रही हूँ। धन्यवाद।--माला चौबेवार्ता 05:48, 15 अप्रैल 2014 (UTC) @संजीव कुमार: जी, आपके सुझाव के अनुरूप उपयुक्त सुधार कर दिया गया है। धन्यवाद।--माला चौबेवार्ता 08:04, 15 अप्रैल 2014 (UTC)

@Mala chaubey: निर्वाचित लेख आवश्यकताओं के नियम ९ अनुसार "संदर्भों में भाषा का उल्लेख केवल वहीं करें जहाँ वे हिंदी में नहीं हैं। हिंदी संदर्भ में हिंदी भाषा का उल्लेख न करें क्योंकि यह हिंदी विकिपीडिया ही है।" मैं इसी नियम के अनुसार बार-बार |language=हिन्दी/हिंदी को हटाता हूँ और आप उन्हें पुनः लगा देते हो। कृपया उन्हें अपने ही हाथों हटा दो जिससे आगे याद रहे।☆★संजीव कुमार (✉✉) 10:27, 20 अप्रैल 2014 (UTC)

@संजीव कुमार: जी,आपके सुझाव के अनुसार संदर्भ संख्या 13,14,18,19,21 और 22 से language=हिन्दी हटा दिया गया है। और कोई सुझाव हो तो बताएं।--माला चौबेवार्ता 05:15, 21 अप्रैल 2014 (UTC)

लेख के निर्वाचित होने में कुछ और अड़चनेंसंपादित करें

  • लेख में अभी भी विकि-कड़ियों की पुनर्रावर्ति हो रही है जैसे द्वितीय विश्वयुद्ध दो बार विकि-कड़ी से जुड़ा है।
  • फ़्रान्सीसी भाषा के स्थान पर फ्रेंच शब्द का प्रयोग करने का औचित्य समझ में नहीं आ रहा।
  • दिनांक में अतिरिक्त अल्पविराम का कारण अस्पष्ट है जैसे: "13 अक्टूबर, 1943" को "13 अक्टूबर 1943" ही लिखा जाना चाहिए।
  • "नूर वास्तव में एक मजबूत और बहादुर महिला थीं' जैसे वाक्य सन्दर्भित होते हुये भी लेख को प्रशंसकीय रूप में दिखाती है जो एक निष्पक्ष लेख के लिए उचित नहीं है।
  • "भारतीय फिल्मकार तबरेज नूरानी व जफर हई नूर..." वाक्य कुछ अजीब लग रहा है क्योंकि ऐसी घोषणा की जाती है लेकिन पूर्ण तथ्य होने के बाद भी हमें भविष्य की घटनाओं को ऐसे नहीं लिखना चाहिए। ख़ासकर जब लेख निर्वाचित प्रक्रिया से गुजर रहा हो अथवा लेख निर्वाचित हो।

आशा करता हूँ ये कमियाँ जल्दी ही दूर कर दी जायेंगी।☆★संजीव कुमार (✉✉) 18:31, 18 सितंबर 2014 (UTC)

@संजीव कुमार: जी, आपके सुझाव के आलोक में-

  • द्वितीय विश्वयुद्ध की एक विकि-कड़ी हटा दी गई है।
  • फ्रेंच के स्थान पर फ़्रान्सीसी भाषा का प्रयोग कर दिया गया है।
  • दिनांक से अतिरिक्त अल्पविराम हटा दिये गए हैं।
  • "नूर वास्तव में एक मजबूत और बहादुर महिला थीं' जैसे वाक्य हटा दिये गए हैं।
  • "भारतीय फिल्मकार तबरेज नूरानी व जफर हई नूर..." महज एक सूचना है, जिसपर फिल्म बनाने के सभी अधिकार खरीद लिए गए हैं। यदि आपको यह अनुभाग रखना उचित प्रतीत नही हो रहा हो तो, आप इस अनुभाग को हटा दें अथवा अल्प सुधार के बाद रहने दें। जैसा उचित समझें, मुझे कोई आपत्ति नही है। आपके सुझाव हेतु आभार।--माला चौबेवार्ता 06:28, 19 सितंबर 2014 (UTC)

लेख में निष्पक्षता का अभावसंपादित करें

एक विकिपीडिया सदस्य ने मुझे गुप्त रूप से कुछ टिप्पणियाँ भेजी हैं और उनकी गोपनियता को ध्यान में रखते हुये मैं ये टिप्पणियाँ लिख रहा हूँ। कुछ स्थानों पर मैंने मूल भाषा में थोड़ा परिवर्तन किया है और कुछ टिप्पणियों के उत्तर ईमेल में लिख भी दिये हैं। कुछ टिप्पणियों के उत्तर मेरे पास नहीं थे अतः मैं यहाँ लिख रहा हूँ:

  1. लेख की भूमिका का वाक्य:– "10 महीनों तक चली यातनाओं के बावजूद ... उगलवाया जा सका" निष्पक्ष नहीं है। वाक्य में सुधार करके इसे निष्पक्ष बनाना आवश्यक है।
  2. उनकी उत्कृष्ट सेवाओं के ...... जॉर्ज क्रॉस से सम्मानित किया गया"— 'उत्कृष्ट' शब्द वाक्य की निष्पक्ष को ख़त्म कर रहा है अतः यह शब्द हटना चाहिए।
  3. प्रारंभिक जीवन अनुभाग में "नूर-उन-निसा इनायत ख़ान" पर उद्धरण चिह्न लगाने की क्या जरूरत है?
  4. वहाँ नॉटिंग हिल में स्थित ......... नियमित योगदान भी देने लगीं" — लगातार पाँच-छः वाक्य संदर्भहीन है। क्यों?
  5. प्रकाशित कृति/ अनुवाद" अनुभाग — किताबों का वो हिन्दी अनुवाद नहीं है इसलिये वहाँ 'लिप्यंतरण' लिखा जाना चाहिये!
  6. बहादुरी की मिसाल — अनुभाग का नाम ही निष्पक्ष नहीं है।
    1. उपरोक्त अनुभाग में — "गेस्टापो के पूर्व अधिकारी हैंस किफर ने उनसे सूचना उगलवाने की खूब कोशिश की, लेकिन वे भी नूर से कुछ भी उगलबा नहीं पाए" — निष्पक्ष भाव नहीं देता।
    2. इसी अनुभाग में — उन्हें दस महीने तक बेदर्दी से प्रताड़ित किया गया, फिर भी उन्होंने अपनी जुबान नहीं खोली। उन्हें जेल में बंद करके जजीरों में बांधा गया, बहुत प्रताड़ित किये जाने के बाद भी नूर ने कोई राज जाहिर नहीं किया।
    3. इस उम्र में इतनी बहादुरी कि जर्मन सैनिक तमाम कोशिशों के बावजूद उनसे कुछ भी नहीं जान पाये, यहाँ तक कि उनका असली नाम भी नहीं।
  7. मृत्यु अनुभाग — मृत्यु के समय उनकी उम्र सिर्फ 30 वर्ष थी। इस वाक्य में "सिर्फ" शब्द हटाया जाये।
  8. सम्मान अनुभाग — सालों की गुमनामी के बाद ब्रिटेन द्वारा उस बहादुर भारतीय महिला को मरणोपरांत 1949 में जॉर्ज क्रॉस से नवाजा गया। — वाक्य को तटस्थ बनाकर लिखा जाना चाहिए।

इसके अलावा यदि टिप्पणियाँ आती हैं तो मैं लिखता दूँगा। आशा करता हूँ अब इस लेख को निर्वाचित होने में अधिक समय नहीं लगेगा।☆★संजीव कुमार (✉✉) 15:49, 22 सितंबर 2014 (UTC)

यहाँ कुछ और टिप्पणियाँ लिख रहा हूँ:– प्रथम टिप्पणी का लेख में आगे कोई उल्लेख नहीं है और टिप्पणी सन्दर्भहीन प्रतीत होती है।
प्रकाशित कृति/अनुवाद के स्थान पर शीर्षक में सुधार होना चाहिए।☆★संजीव कुमार (✉✉) 18:46, 22 सितंबर 2014 (UTC)

@संजीव कुमार: जी, विकिपीडिया पर कुछ भी गोपनीय नही होता। यदि संभव हो तो संदेश को सार्वजनिक करें। रही लेख में निष्पक्षता का अभाव, तो मैं स्पष्ट कर देना चाहती हूँ कि एक बहादुर शहीद सैनिक को सम्मान देना पक्षपात की श्रेणी में नही आता।

आपने कुछ सुझाव दिये हैं, उसके आधार पर संशोधन कर दिया गया है।

  1. "10 महीनों तक चली यातनाओं के बावजूद ... उगलवाया जा सका" वाक्य में अल्प सुधार कर दिया गया है।
  2. वाक्य से उत्कृष्ट हटा दिया गया है।
  3. प्रारंभिक जीवन अनुभाग में "नूर-उन-निसा इनायत ख़ान" से उद्धरण चिन्ह हटा दिया गया है।
  4. वहाँ नॉटिंग हिल में स्थित ......... नियमित योगदान भी देने लगीं" संदर्भ दे दिये गए हैं।
  5. अनुवाद के स्थान पर 'लिप्यंतरण' लिख दिया गया है।
  6. बहादुरी की मिसाल — अनुभाग का नाम "सीक्रेट एजेंट के रूप में करियर" में परिवर्तित कर दिया गया है।
    1. समस्त वाक्य सही कर दिये गए हैं।
    2. समस्त वाक्य सही कर दिये गए हैं।
    3. समस्त वाक्य सही कर दिये गए हैं।
  7. मृत्यु अनुभाग से "सिर्फ" शब्द हटा दिया गया है।
  8. सम्मान अनुभाग से "सालों की गुमनामी के बाद" और "बहादुर" हटा दिया गया है। आगे की टिप्पणियों की प्रतीक्षा रहेगी। धन्यवाद।--माला चौबेवार्ता 06:28, 23 सितंबर 2014 (UTC)
माला जी जहाँ "उद्धरण चिह्न" शब्द लिखा हो तो उसका अर्थ सन्दर्भ/उद्धरण न लें। मैं अवतरण चिह्न ("") की बात कर रहा था न कि अवतरण की।
  • प्रकाशित कृति/ लिप्यंतरण अनुभाग में तीन पुस्तकों का नाम लिखा है अथवा एक ही पुस्तक तीन भाषाओं में लिखी गई है?
  • अनुभाग "विशेष अभियान के कार्यकारी एफ सेक्सन एजेंट के रूप में जासूसी" में कुछ इन-लाइन सन्दर्भ चाहिए।
  • अनुभाग सीक्रेट एजेंट के रूप में करियर में निम्न वक्य लिखा है:— होठों पर शब्द था -"फ्रीडम यानी आजादी" — क्या उन्होंने "फ्रीडम यानी आजादी" शब्द बोला था अथवा उसका अर्थ आपने समझाया है? यदि आपने वाक्य को समझाने के लिए ऐसा लिखा है तो कृपया अलग से टिप्पणी में लिखें, अवतरण चिह्न के अन्दर नहीं।
  • बिल जी द्वारा पुछा गया एक पुराना प्रश्न:— सूफ़ी संगीत प्रेमी और बेहद ख़ूबसूरत महिला नूर द्वितीय विश्व युद्ध के समय में जासूस कैसे बन गईं?
मुझे लगता है अबकि बार टिप्पणियाँ देने में देरी नहीं हुई!☆★संजीव कुमार (✉✉) 11:01, 25 सितंबर 2014 (UTC)
धन्यवाद संजीव जी, इस पृष्ठ की व्यापक समीक्षा के लिए। आपके सुझाव पर कार्यवाही और टिप्पणी निम्नलिखित है:
  • प्रकाशित कृति/ लिप्यंतरण अनुभाग में एक ही पुस्तक तीन भाषाओं में लिखी गई है, केवल प्रकाशन अलग-अलग है।
  • अनुभाग "विशेष अभियान के कार्यकारी एफ सेक्सन एजेंट के रूप में जासूसी" में पुष्टि हेतु संदर्भ दे दिये गए हैं।
  • अनुभाग सीक्रेट एजेंट के रूप में करियर में निम्न वक्य लिखा है:— होठों पर शब्द था -"फ्रीडम यानी आजादी" — कृपया दिये गए संदर्भ संख्या-2 का अवलोकन करें जिसमें स्पष्ट लिखा है कि-here she was shot and consigned to the crematorium. Her last word: “Liberté”. यह लिबेरते फ्रांसीसी शब्द है जिसे अँग्रेजी में फ़्रीडम या हिन्दी में स्वतन्त्रता तथा हिन्दुस्तानी भाषा में आज़ादी समझा जा सकता है।
  • सूफ़ी संगीत प्रेमी और बेहद ख़ूबसूरत महिला नूर द्वितीय विश्व युद्ध के समय में जासूस कैसे बन गईं? बिल जी के द्वारा इस प्रश्न को पूछने के बाद से अत्यधिक परिवर्तन किए जा चुके हैं। शायद आपने विमर्श अनुभाग पर नज़र नही दौड़ाई जहां इस प्रश्न का उत्तर और संदर्भ दोनों प्रस्तुत किए गए हैं। आगे की टिप्पणियों की प्रतीक्षा रहेगी। आपका पुन: धन्यवाद। --माला चौबेवार्ता 12:41, 25 सितंबर 2014 (UTC)
  • जब एक ही पुस्तक तीन अलग-अलग भाषाओं में लिखी गई है तो पुनः प्रश्न उठता है: क्या पुस्तक को नूर ने अनुवादित किया था? यदि हाँ तो तीन अलग-अलग बिन्दु बनाने की क्या आवश्यकता है? यदि नहीं तो अन्य भाषाओं का उल्लेख नहीं आना चाहिए।
  • सन्दर्भों हेतु धन्यवाद।
  • होठों पर शब्द था "लिबेरते/लिबेर्ते/लिबर्ते" लेकिन आपने इस शब्द को न लिखकर हिन्दी और अंग्रेज़ी शब्द को लिखा है। ऐसी अवस्था में यहाँ अंग्रेज़ी शब्द लिखना मुझे तो पूर्णतया अजीब लग रहा है और दूसरी तरफ ऐसे स्थानों पर टिप्पणी देनी चाहिए जिससे पाठक भ्रमित न हो।
  • सूफ़ी संगीत प्रेमी वाला प्रश्न आपने भी लेख में पुछा है और उसका कारण के रूप में एक पुस्तक का उल्लेख किया है। चूँकि ऐसा करना एक सार्थक कार्य नहीं है फिर भी मैं इसे इस रूप में स्वीकार कर रहा हूँ।☆★संजीव कुमार (✉✉) 13:26, 25 सितंबर 2014 (UTC)
अनुभाग "विमर्श" में श्रावणी बसु के दो-दो उद्धरण एक साथ दिये गये हैं। इसमें धूसर पृष्ठभूमि वाले उद्धरण को किसी अन्य उद्धरण से प्रतिस्थापित किया जाना अथवा हटा देना उचित रहेगा।☆★संजीव कुमार (✉✉) 15:50, 25 सितंबर 2014 (UTC)

@संजीव कुमार: जी,

मूल पुस्तक अङ्ग्रेज़ी में है और उसके अनुवाद की चर्चा टीका-टिप्पणी अनुभाग के अंतर्गत की गयी है, जिसमें अनुवादक का नाम भी उल्लिखित है।
धन्यवाद आपका भी।
"फ़्रीडम और आज़ादी" के स्थान पर "स्वतन्त्रता" कर दिया गया है। साथ टीका-टिप्पणी अनुभाग में फ्रांसीसी भाषा का उल्लेख भी किया गया है।
स्वीकार करने हेतु आपका धन्यवाद।
धूसर पृष्ठभूमि वाले उद्धरण को किसी अन्य उद्धरण से प्रतिस्थापित किया जाना अथवा हटा देना मुझे उचित नही लग रहा, क्योंकि इससे कोई फर्क नही पड़ता। यदि आपको उचित लग रहा हो तो हटा दीजिये या अन्य संदर्भ में प्रतिस्थापित कर दें, मुझे कोई आपत्ति नही है। आगे की टिप्पणी की प्रतीक्षा रहेगी। धन्यवाद।--माला चौबेवार्ता 12:56, 26 सितंबर 2014 (UTC)

लेख में मृत कड़ियाँसंपादित करें

लेख में सन्दर्भ संख्या २१ और २९ मृत हैं। कृपया यहाँ उपयुक्त कड़ियाँ जोड़ें।

इसके अलावा बाहरी कड़ियाँ अनुभाग की अन्तिम कड़ी न ही तो मुझे कोई विश्वसनीय साइट प्रतीत हो रही है और न ही वहाँ पर नूर का कोई उल्लेख दिखाया गया है।☆★संजीव कुमार (✉✉) 13:36, 25 सितंबर 2014 (UTC)

उपरोक्त सभी मृत कड़ियों को ठीक कर दिया गया है, कृपया अवलोकन कर पुष्टि कर लें। धन्यवाद।--माला चौबेवार्ता

लेख में शब्दों में भिन्नता और कुछ और सुधारसंपादित करें

कुछ और सुधार:

  • ज्ञानसन्दूक में उनका अन्य नाम "मैडेलीन" लिखा हुआ है जबकि लेख में उल्लेख करते समय इसे "मेडेलीन" लिखा गया है। कृपया वर्तनी की समानता का ध्यान रखें।
  • लेख में माह के नामों की भिन्न वर्तनियाँ काम में ली गई हैं जैसे: सितम्बर/सितंबर। कृपया एकरूपता लायें।
  • लेख में "महिला सहायक वायु सेना" शब्द दो जगह काम में आया है लेकिन दोनों ही स्थानों पर इसका कोई स्रोत (सन्दर्भ) नहीं दिया गया है। इसके अलावा लेख में इस पद का कहीं उल्लेख नहीं है।
  • "प्राथमिक चिकित्सा नर्सिंग क्षेत्र" का भी लेख में कहीं उल्लेख नहीं है जबकि ज्ञानसन्दूक में इसे दिया गया है।
  • ज्ञानसन्दूक में "उपाधि" में "ध्वज" लिखा है। उसका क्या तात्पर्य है? एफ॰ए॰एन॰वाई॰ से इसका क्या लेना देना है?
  • सम्मान में "डिस्पैचिज में मेंशन" क्या है? अन्य सम्मान (यदि उल्लेखनीयता रखते हैं) तो विकिलिंक होना चाहिए और यदि सम्मान उल्लेखनीय नहीं है तो उसका यहाँ वर्णन करना अनावश्यक है।

आशा करता हूँ निकट भविष्य में ये सुधार सम्भव होंगे।☆★संजीव कुमार (✉✉) 14:45, 29 सितंबर 2014 (UTC)

@संजीव कुमार: आपके सुझाव व समीक्षा के आलोक में प्रतियुत्तर-

  • ज्ञानसन्दूक में भी "मेडेलीन" कर दिया गया है।
  • सितंबर को सितम्बर कर दिया गया है।
  • "महिला सहायक वायु सेना" का संदर्भ दे दिया गया है।
  • भूमिका में इस बात का उल्लेख है, कि वे द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान वे फ्रांस में एक गुप्त अभियान के अंतर्गत नर्स का काम करती थीं।
  • उन्हें एफ॰ ए॰ एन॰ वाई॰ का प्रतीक चिन्ह [Ensign] प्रदान किया गया था। समझने के लिए ध्वज को प्रतीक चिन्ह मे परिवर्तित किया।
  • इसे सही कर दिया गया है और संदर्भ भी दे दिये गए हैं।

यदि अन्य सुझाव व सुधार आप महसूस करें तो अवश्य बताएं। धन्यवाद।--माला चौबेवार्ता 08:20, 7 अक्टूबर 2014 (UTC)

लेख में कुछ और सुधारों की आवश्यकतासंपादित करें

लेख वैसे तो निर्वाचित हो चुका है और लगभग सुधार हो चुके हैं जो टिप्पणी करके माँगे गये थे। इसके अतिरिक्त नुक़्ता अक्षरों से सम्बंधित कुछ शब्द अभी भी गलत हैं अतः उनमें सुधार हेतु मैं सत्यम् जी और मुज़म्मिल जी से निवेदन करूंगा कि उचित समय निकालकर ये सुधार करें।☆★संजीव कुमार (✉✉) 08:57, 7 अक्टूबर 2014 (UTC)

मैंने कुछ सुधार अपनी ओर से कर दिया है। --मुज़म्मिल (वार्ता) 09:52, 7 अक्टूबर 2014 (UTC)
मुज़म्मिल जी ने उपयुक्त सुधार कर दिए हैं, इसके लिए आपको धन्यवाद! (एकाध 'खान' बच गए हैं बाद में उनसे निपट लीजियेगा)। पहली लाइन में उर्दू में लिखा नाम हिंदी और अंग्रेजी के संगत नहीं है, उसे ठीक कर दें (मैं इस समय टाइप नहीं कर सकता) और सन्दर्भ देख कर "शवदाहगृह में दफ़ना दिया गया" भी ठीक कर दें कि दाह किया गया था या दफ़्न। माला जी को उनके परिश्रम के सफल होने और लेख के चयनित लेख बनने पर बधाईयाँ!--सत्यम् मिश्र (वार्ता) 10:50, 7 अक्टूबर 2014 (UTC)
सत्यम जी, मैंने आपके बताए बदलाव कर दिए हैं। "शवदाहगृह में दफ़ना दिया गया" को संजीव जी उसी प्रकार रख सकते हैं या उसमें बदलाव ला सकते हैं। --मुज़म्मिल (वार्ता) 11:06, 7 अक्टूबर 2014 (UTC)

@संजीव कुमार, Hindustanilanguage, और सत्यम् मिश्र: आप सभी का धन्यवाद महत्वपूर्ण सुधार हेतु।--माला चौबेवार्ता 11:10, 7 अक्टूबर 2014 (UTC)

माला जी, इस लेख के सुधार में आपका अतुल्य योगदान रहा है, इसलिए मैं आपको बधाई देना चाहूँगा। --मुज़म्मिल (वार्ता) 11:47, 7 अक्टूबर 2014 (UTC)

कुछ और ध्यान देने के बिन्दुसंपादित करें

संजीव जी के कहे अनुसार कुछ नुक़तेबाजी मैंने भी की है, मुज़म्मिल जी से निवेदन है कि एक बार देख लें (हो सकता है जोश में एकाध शब्दों में एक्स्ट्रा नुक़्ते लग गए हों)! फिल्म और फ्रांस को मैंने नहीं छुआ (जैसा इन्हें हिंदी विकी की मानक वर्तनी कहती हो करें)।

इसके अलावा:

  1. लेख में "विश्वयुद्ध" और "विश्व युद्ध" में से किसी एक को चुनकर एकरूपता लायी जाय। मुझे जहाँ तक पता है विश्व और युद्ध के बीच खाली जगह नहीं है।
  2. ज्ञानसंदूक में डकाऊ एकाग्रता कैंप लिखा है जिसमें 'एकाग्रता' शायद कंसंट्रेशन का मानक शब्दावली वाला अनुवाद हो गया लगता है। मृत्यु वाले खंड में यही प्रताड़ना शिविर बन गया है।
  3. प्रकाशित कृति/अनुवाद वाला खंड (मेरे विचार में) बेतुकी जगह है। सामान्यतया योगदान का उल्लेख लेखकों की जीवनी के अंत में देखता हूँ।
  4. ऑपरेटर/ ओपरेशन/ ओपरेटरों में एकरूपता लायी जाय।
  5. और एक बार फिर, बख़ुदा उन्हें सही सद्गति दी जाय।

माला जी से निवेदन है कि उपरोक्त पर ध्यान दें।सधन्यवाद!--सत्यम् मिश्र (वार्ता) 17:38, 7 अक्टूबर 2014 (UTC)

मुझे तो केवल फिल्म और फ्रांस से समस्या थी, मगर एक तो जैसे कि आपने कहा "हिंदी विकी की मानक वर्तनी" का हिस्सा बन चुके हैं और कई बार हम इसी को अपनाते हैं जैसे कि {{विकिपरियोजना फिल्म}}। --मुज़म्मिल (वार्ता) 17:50, 7 अक्टूबर 2014 (UTC)

@सत्यम् मिश्र:जी,

  1. सही कहा आपने विश्व और युद्ध के बीच खाली जगह नहीं होनी चाहिए। मैं आपकी बातों से सहमत हूँ। दो- तीन जगह यह त्रुटियाँ दिखी है मुझे, जिसे मैंने सुधार दिया है।
  2. सही कहा आपने कि 'डकाऊ एकाग्रता शिविर' 'Dachau Concentration Camp' का मानक शब्दावली वाला अनुवाद है। मृत्यु अनुभाग में भी 'डकाऊ एकाग्रता शिविर' कर दिया गया है।
  3. आपके सुझाव के अनुक्रम में प्रकाशित कृति/ अनुवाद अनुभाग का स्थान परिवर्तित कर दिया गया है।
  4. जहां-जहां नज़र गयी है वर्तनी सुधार कर दिया गया है।
  5. आपके महत्वपूर्ण सुझाव हेतु धन्यवाद।--माला चौबेवार्ता 05:23, 8 अक्टूबर 2014 (UTC)
माला जी मैं क्षमा प्रार्थी हूँ अस्पष्ट भाषा में ध्यातव्य बिंदु लिखने के लिए। मुझे ऐसा प्रतीत हुआ था कि उपरोक्त त्रुटि अनवधान-जन्य मात्र है। concentration camp एक आलंकारिक शब्दावली है (euphemism)। इसका प्रयोग लक्षणात्मक है जिसमें concentration का अभिधात्मक अनुवाद एकाग्रता नहीं हो सकता। इसे हिन्दी में प्रताड़ना या यातना शिविर ही कहा जाता है। पहली बार मैं स्पष्ट नहीं लिख पाया इसके लिए माफ़ी चाहूँगा। मैंने इसे ठीक कर दिया है।--सत्यम् मिश्र (वार्ता) 13:25, 8 अक्टूबर 2014 (UTC)

@सत्यम् मिश्र:जी, कोई बात नही, आप जैसे भाषा विशेषज्ञ के स्पर्श मात्र से ही यह लेख और सुंदर बन गया है। आपका पुन: आभार।--माला चौबेवार्ता 13:45, 8 अक्टूबर 2014 (UTC)

माला जी मैं विशेषज्ञ किसी विधा में नहीं, बहरहाल तारीफ़ के लिए शुक्रिया!--सत्यम् मिश्र (वार्ता) 14:18, 8 अक्टूबर 2014 (UTC)
पृष्ठ "नूर इनायत ख़ान" पर वापस जाएँ।