यह पृष्ठ शोभन सरकार लेख के सुधार पर चर्चा करने के लिए वार्ता पन्ना है। यदि आप अपने संदेश पर जल्दी सबका ध्यान चाहते हैं, तो यहाँ संदेश लिखने के बाद चौपाल पर भी सूचना छोड़ दें।

लेखन संबंधी नीतियाँ

पृष्ठ बदलावसंपादित करें

कृपया गलत ढ़ंग से बदलाव न करें। चाहें तो कुछ चर्चा कर लें--ऋषि 06:56, 26 अक्टूबर 2013 (UTC).

ऋषि जी, आप जिस प्रकार की सामग्री पृष्ठ में डाल रहे हैं वो अज्ञानकोशीय भाषा में है और पढ़ने पर ऐसा प्रतीत हो रहा है जैसे यह पृष्ठ शोभन सरकार का प्रचार करने के लिए बना है। मैं आपके संपादन को पूर्ववत कर रहा हूँ। जब तक चर्चा चल रही है तब तक कृपया सामग्री फ़िर से ना डालें अन्यथा मुझे पृष्ठ सुरक्षित करना पड़ेगा।<>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 07:13, 26 अक्टूबर 2013 (UTC)
ऋषि जी, आपने शायद वर्तमान नियमावली पर ध्यान नहीं दिया और यह ही एकमात्र कारण हो सकता है जिसकी वजह से आपको अपना कार्य उचित लगता है। मैं यह नहीं कह रहा कि आप अनुचित कार्य कर रहे हो लेकिन लेख को सम्पादित करने के लिए आप जिस प्रारूप को काम में ले रहे हो वह विकी प्रारूप के अनुरूप नहीं है। आपने लेख में जानकारी तो डाल दी थी लेकिन उसे आपने एक लेख न बनाकर निम्बंध बना दिया था। लेख का प्रारूप होता है कि उसमें पहले भूमिका हो और उसके बाद में बिन्दुवार उसकी जानकारी हो। चूँकि यह हमारा शोधक्षेत्र नहीं है अतः हमे अपने प्रत्येक कथन के साथ सन्दर्भ जोड़ना होता है। चूँकि आपके सम्पादनों की संख्या अभी अधिक नहीं है अतः हो सकता है आप इस प्रारूप से सुपरिचित नहीं हो लेकिन इसके लिए आपको स्वशिक्षा लेनी चाहिए। वहाँ पर आपको विकी सम्पादन के विषय में जानकारी मिलेगी। आप सहायता के लिए चौपाल पर लिख सकते हैं। लेकिन लेख में अपने सम्पादनों को रखने के लिए उन्हें सन्दर्भित करना आवश्यक है। क्या आप जानते हैं कि अंग्रेज़ी विकी पर यह लेख कुछ दिन पूर्व बनाया गया था और वहाँ पर कम से कम १४-१५ उचित सन्दर्भ भी थे फिर भी इस लेख को इस आधार पर हटा दिया गया क्योंकि शोभन सरकार की उल्लेखनीयता के सम्बन्ध में केवल उन्नाव स्वर्ण खजाने की घटना है और केवल इस घटना के आधार पर एक व्यक्ति को प्रसिद्ध मान लिया जाये यह सम्भव नहीं है। यहाँ इस पृष्ठ को मैंने हटाने के लिए नामांकित केवल इसलिए नहीं किया क्योंकि यह लेख यहाँ मेरे आने से कम से कम २ वर्ष पूर्व बन चुका था और उसके बाद बहुत अच्छे-अच्छे विकी योगदानकर्त्ता यहाँ काम कर चुके हैं, अतः मैं उनके योगदानों को सम्मान देते हुए इस पृष्ठ को हटाने के पक्ष में नहीं हूँ। जो भी हो यदि आप वास्तव में इस लेख में उल्लेखनीय सुधार करना चाहते हो तो विकी प्रारूप में एवं उचित सन्दर्भों के साथ करें।☆★संजीव कुमार (✉✉) 08:15, 26 अक्टूबर 2013 (UTC)
मेरे ख्याल में यह लेख किसी व्यक्ति विशेष के बारे में न होकर, केवल इस घटना के बारे में होना चाहिए। कारण :-
  • विकिपीडिया:उल्लेखनीयता पर कवि पन्टर सिंह का उदहारण देखें। अगर हम उन्नाव की इस घटना को एक मिनट के लिए भूल जाएँ, तो इस व्यक्ति की उल्लेखनीयता बहुत छोटी जगह तक सीमित हैं। अगर वेब पर खोजा जाये, तो इस घटना के पहले उनपर विश्वसनीय जानकारी एवं लोकप्रियता न के बराबर है। केवल एक घटना के आधार पर, हम उन्हें उल्लेखनीय नहीं मान सकते। शायद यही कारण है की अंग्रेजी विकिपीडिया पर भी सदस्यों ने en:Shobhan Sarkar के नाम का पृष्ट en:Unnao gold treasure incident पर अनुप्रेषित करना सही समझा।
"When an individual is significant for his or her role in a single event, it may be unclear whether an article should be written about the individual, the event or both. In considering whether or not to create separate articles, the degree of significance of the event itself and the degree of significance of the individual's role within it should be considered. The general rule in many cases is to cover the event, not the person. However, as both the event and the individual's role grow larger, separate articles become justified."
हाँ, अगर आगे जाकर आम जनता में स्वयं इनकी खुद की लोकप्रियता बढ़ती है (न की स्वर्ण खोज की), तब इन्हें एक उल्लेखनीय विषय माना जा सकेगा। पर भारतीय मीडिया (जिसकी खुद की विश्वस्नीयता मेरे ख्याल में शंकास्पद और धर्माध रहती है) द्वारा खड़ी की नकली लोकप्रियता को आधार मान कर नहीं चल सकते। अतः फिलहाल मैं भी इस पृष्ट को उन्नाव स्वर्ण खजाने की घटना पर अनुप्रेषित करने के पक्ष में हूँ। बाकी आप सब जैसा सही समझें। ░▒▓शुभम कनोडिया वार्ता 11:56, 27 अक्टूबर 2013 (UTC)
शुभम जी, इस पृष्ठ का निर्माण ऋषि जी ने 22 नवम्बर 2010‎ को किया था। उसके बाद अनुनाद जी के सम्पादनों से पहले यह केवल एक पंक्ति का पृष्ठ था। मुझे आपके बताए सुझावों में कोई आपत्ति नहीं है और यदि उसे अनुप्रेषित किया जाता है तो मुझे कोई आपत्ति नहीं है लेकिन वह कार्य एकदम अंग्रेज़ी विकी का अनुसरण करने जैसा होगा। जो भी हो मुझे कोई आपत्ति नहीं है। आप लोग जैसा फैसला लेंगे ठीक ही होगा। मुझे आपत्ति होगी तो मैं जरूर लिखुँगा।☆★संजीव कुमार (✉✉) 12:31, 27 अक्टूबर 2013 (UTC)
शुभम जी, आप यह क्यों कह रहे हैं कि "इस व्यक्ति की उल्लेखनीयता बहुत छोटी जगह तक सीमित हैं"। यह कानपुर के एक सिद्ध संत माने जाते है, हाँ वे मीडिया में जरूर कम आये हैं परन्तु इसे आप कवि पन्टर सिंह से आप इसकी तुलना नहीं कर सकते। जो व्यक्ति मीडिया में अधिक आता हैं उसी व्यक्ति का वेब पर अधिक उल्लेख मिलता है। विश्वसनीय जानकारी जरूर कम है लेकिन लोकप्रियता को आप कम नहीं कह सकते। मैं कानपुर का ही निवासी हूँ और यहाँ और आसपास पर इनके लाखों शिष्य है। अतः मैं आपके प्रस्ताव के विरोध में हूँ।--प्रतीक मालवीयवार्ता 13:43, 27 अक्टूबर 2013 (UTC)
शुभम जी ने तो मेरे मन की बात कर दी। अंग्रेज़ी विकि की निति मानी जाए या नहीं कॉमनसेंस के अनुसार भी एक ज्ञानकोश पर उस शख़्सियत का लेख होना चाहिए जो अपने काम, पद्वी, आदि सम्बन्धित कारणों की वजह से दीर्घकालिक रूप से अखबारों, किताबों या पत्रिकाओं में कवर किया जाए, केवल एक प्रकरण के कारण उल्लेखनीयता सिद्ध नहीं होती। मुझे एक प्रकरण याद आता है जब लंदन का 13 साल का लड़का एल्फी पैटन बाप बन गया था; रोज अखबारों में उसकी ख़बर आने लगी थीं। वो इतनी बडी शख़्सियत बन गया था कि उसके जीवन के एक-एक पहलू को मीडिया ने कवर किया: कब और कहाँ पैदा हुआ, किस अस्पताल में पैदा हुआ, माता-पिता कौन हैं, किस स्कूल में जाता है, किस कक्षा में है, पढ़ने में कैसा है, आदि, मीडिया कवरेज इतनी थी जितनी शायद शोभन सरकार को भी ना मिली हो (मैं उन्नाव स्वर्ण खजाने की घटना नहीं केवल शोभन सरकार की फुल कवरेज की बात कर रहा हूँ) परन्तु फ़िर भी अंग्रेज़ी विकि से एल्फी पैटन लेख को हटा दिया गया था। शोभन सरकार की उन्नाव की घटना के अलावा उल्लेखनीयता सिद्ध करना नामुमकिन सा है। प्रतीक जी, यहाँ बात "लोकप्रियता" नहीं अपितु उल्लेखनीयता की हो रही है। केवल वैब के आधार पर उल्लेखनीयता को नहीं परखा जाता, क्या शोभन सरकार को किताबों, पत्रिकाओं, अखबारों, आदि में इस घटना से पहले जगह मिली थी? अगर नहीं, तो विकि दृष्टिकोण के अनुसार ये उल्लेखनीय नहीं हैं। विकिपीडिया भावनाओं के अनुसार नहीं चलता, केवल यह कह देना कि इनके "लाखों शिष्य है" इनकी उल्लेखनीयता सिद्ध नहीं करता।<>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 13:57, 27 अक्टूबर 2013 (UTC)
इन्हें मिडिया ने इतना अधिक कवर "उन्नाव स्वर्ण खजाने की घटना" के बाद ही किया और जैसा प्रतीक जी कह रहे हैं उनके शिष्य भी बहुत हो सकते हैं। मैं मिडिया के सभी भागों को देखता हूँ तो उनका एक और कार्य ज्ञात होता है जो उन्होंने २००४/०५ में गंगा नदी पर एक पुल निर्माण के सम्बंध में किया था। लेकिन मेरी इस पृष्ठ को बढ़ाने अथवा हटाने में खास रूचि नहीं है अतः मैं ऐसी घटनाएँ नहीं जोड़ रहा। यदि अंग्रेज़ी विकी पर यह लेख हटाया नहीं जाता तो मैं अवश्य ही लेख में सुधार करता। ऋषि जी को भी मैंने उनके ईमेल के उत्तर में यह बात ही लिखी थी कि आप २००४ अथवा ०५ की वो घटना जोड़ सकते हो। वैसे मैंने बीबीसी हिन्दी पर एक वर्तालाप सुना था जिसमें शोभन सरकार का एक शिष्य उनके तारिफों के पुल बांध रहा था लेकिन बीबीसी संवाददाता के इस प्रश्न का उत्तर नहीं दे रहा था कि उन्होंने इस सपने के अलावा कुछ उल्लेखनीय कार्य किया है? वह शिष्य वैसे अपने आप को शोभन सरकार का सेवक कह रहा था। लेकिन प्रश्न के जबाब के उत्तर में केवल घुस्सा हो रहा था।☆★संजीव कुमार (✉✉) 14:21, 27 अक्टूबर 2013 (UTC)

┌────────────────┘
मैं कुछ बातें साफ़ करना चाहूँगा।

संजीव जी: मुझे आपके बताए सुझावों में कोई आपत्ति नहीं है और यदि उसे अनुप्रेषित किया जाता है तो मुझे कोई आपत्ति नहीं है लेकिन वह कार्य एकदम अंग्रेज़ी विकी का अनुसरण करने जैसा होगा।
उत्तर: यह ख्याल मेरे दिमाग में भी आया था! हमारे पास दो विकल्प हैं। या तो हम इसे अनुप्रेषित कर दें, या हम इसे हटा दें। मुझे दोनों में से अनुप्रेषित करना ज्यादा उचित लगा। और ऐसा नहीं है की हम आँख बंद करके अंग्रेजी विकी के पीछे पीछे चल रहे हैं। इसलिए तो यह वार्ता चल रही है! ताकि हम सब मिलकर उचित समाधान निकाल सकें।

प्रतीक जी: यह कानपुर के एक सिद्ध संत माने जाते है, हाँ वे मीडिया में जरूर कम आये हैं परन्तु इसे आप कवि पन्टर सिंह से आप इसकी तुलना नहीं कर सकते।
उत्तर: मैं भी कुछ यही कहना चाह रहा हूँ। कानपुर, उन्नाव एवं आस-पास के इलाकों में वो भले ही जाने जाते हों, वह अपने लोगों के बीच प्रसिद्ध और सम्मानीय हैं, इसमें कोई दो राय नहीं है। पर राष्ट्रीय(national) और अंतर्राष्ट्रीय(international) स्तर पर शायद वह रूचि का विषय नहीं हैं; न ही हमारे पास विश्वसनीय जानकारी उपलध है; अतः उनके बारे में जानकारी पाने का विकिपीडिया से ज्यादा बेहतर मंच "मीडिया" है। मैं उनकी तुलना कवि पन्टर सिंह से कदापि नहीं करना चाह रहा था। वह तो बस बात समझाने का एक ज़रिया था।

बिल जी ने एक बड़ा ही सटीक उदहारण पेश किया है। उल्लेखनीयता और लोकप्रियता के बीच की लकीर बहुत पतली है। हमें इसे समझना होगा। एक बात पर गौर की जाए। हमें उनके बारे में जो भी जानकारी प्राप्त है, वह उनके शिष्यों के बातों से है। जो की first hand information नहीं कहलाई जा सकती। ░▒▓शुभम कनोडिया वार्ता 17:42, 27 अक्टूबर 2013 (UTC)

ठीक है अभी इसे अनुप्रेषित किया जा सकता है। लेकिन मैं एक बात कह सकता हूँ (चूँकि मुझे इसकी कोई सम्भावना नहीं लगती) यदि उन्नाव के डौंडिया खेड़ा में सोना मिल जायेगा तो वो एक बार पुनः चर्चा में आ जायेंगे और उल्लेखनीय भी हो जायेंगे। अतः सबसे बेहतर है कि इतिहास मिटाये बिना इस पृष्ठ को अनुप्रेषित कर दिया जाये। थोड़ा सा विवरण उस पृष्ठ पर दे दिया जायेगा।☆★संजीव कुमार (✉✉) 18:02, 27 अक्टूबर 2013 (UTC)
बहुत संभव है कि आपने बीबीसी पर ओम बाबा का इंटरव्यू सुना होगा। वह आदमी बड़बोला है।

ठीक है संजीव जी, आपकी राय सही है लेकिन क्या हम खुदाई का परिणाम निकलने तक रुक नहीं सकते।--प्रतीक मालवीयवार्ता 14:14, 28 अक्टूबर 2013 (UTC)

जैसा सभी लोग उचित समझें।☆★संजीव कुमार (✉✉) 15:13, 28 अक्टूबर 2013 (UTC)
खुदाई का कार्य समाप्त - अब लेख का क्या किया जाये?☆★संजीव कुमार (✉✉) 10:42, 16 नवम्बर 2013 (UTC)

पृष्ठ हटाने पर चर्चासंपादित करें

@Rishi1410, Bill william compton, Shubhamkanodia, और Prateekmalviya20: मुझे लगता है अब इस पृष्ठ को हटा देना चाहिए। इसकी लोकप्रियता केवल उन्नाव स्वर्ण खजाने की घटना से थी अतः इस पृष्ठ को या तो इतिहास सहित उस पृष्ठ में विलय करके अनुप्रेषित कर दिया जाये अथवा इसे सीधा ही उस पृष्ठ पर अनुप्रेषित कर दिया जाये। कृपया अपने विचार रखें अथवा उचित कार्यवाही करें।☆★संजीव कुमार (✉✉) 21:02, 18 मई 2014 (UTC)

@संजीव कुमार: मैं आपसे सहमत हूँ। इसे जल्द से जल्द उन्नाव स्वर्ण खजाने की घटना पृष्ठ में विलय कर देना चाहिए।--प्रतीक मालवीय 04:47, 19 मई 2014 (UTC)
@Prateekmalviya20: मुझे इस पृष्ठ पर ऐसी कोई जानकारी नज़र नहीं आ रही जो कि उन्नाव स्वर्ण खजाने की घटना में विलय करने लायक हो। शोभन सरकार के जीवन से जुड़ी व्यक्तिगत जानकारी (उनकी शिक्षा आदि) घटना पृष्ठ पर डालने का कोई मतलब नहीं बनता। इसे हहेच के लिए नामांकित कर दिया गया है, कृपया अपनी टिप्पणी वहां रखें। ░▒▓शुभम कनोडिया वार्ता 05:53, 21 मई 2014 (UTC)
पृष्ठ "शोभन सरकार" पर वापस जाएँ।