विठोबा मन्दिर (Vithoba Temple), जिसे श्री विठ्ठल रुक्मिणी मन्दिर (Shri Vitthal Rukmini Mandir) भी कहा जाता है, भारत के महाराष्ट्र राज्य के सोलापुर ज़िले के पंढरपुर नगर में स्थित विट्ठल (विष्णु के एक रूप) और रुक्मिणी को समर्पित एक प्रमुख मन्दिर है। इसका निर्माण होयसल राजवंश के राजा विष्णुवर्धन ने 1108–1152 ईसवी काल में करवाया था। मन्दिर में एक शिलालेख के अनुसार होयसल वंश के राजा वीर सोमेश्वर ने 1237 ईसवी में मन्दिर को एक अपनी देखरेख के खर्चे के लिए एक ग्राम का दान करा था। यह महाराष्ट्र के सबसे अधिक श्रद्धालुओं वाले मन्दिर में से एक है। समीप ही पवित्र भीमा नदी है, जिसमें भक्तगण स्नान करते हैं। सन् 2014 में यहाँ स्त्रियों और अनुसूचित जाति के हिन्दुओं को पुजारी बनने के लिए विशेष न्योता दिया गया।[2][3]

श्री विठ्ठल रुक्मिणी मन्दिर
Shri Vitthal Rukmini Mandir
विठोबा मन्दिर
Pandharpur 2013 Aashad - panoramio (10) (cropped).jpg
श्री विठ्ठल रुक्मिणी देवस्थान
धर्म संबंधी जानकारी
सम्बद्धताहिंदू धर्म
देवताविठोबा (विट्ठल)
त्यौहारदेवशयनी एकादशी, कार्तिकी एकादशी
अवस्थिति जानकारी
अवस्थितिपंढरपुर
ज़िलासोलापुर ज़िला
राज्यमहाराष्ट्र
देश भारत
विठोबा मन्दिर is located in महाराष्ट्र
विठोबा मन्दिर
महाराष्ट्र में स्थान
भौगोलिक निर्देशांक17°40′N 75°20′E / 17.67°N 75.33°E / 17.67; 75.33निर्देशांक: 17°40′N 75°20′E / 17.67°N 75.33°E / 17.67; 75.33
वास्तु विवरण
प्रकारहोयसाल वास्तु-शैली
निर्माताविष्णुवर्धन, होयसल राजवंश[1]
निर्माण पूर्ण1108–1152 ई

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "The Great Pandharpur Pilgrimage". Live Histrory India.
  2. "RBS Visitors Guide India: Maharashtra Travel Guide Archived 2019-07-03 at the Wayback Machine," Ashutosh Goyal, Data and Expo India Pvt. Ltd., 2015, ISBN 9789380844831
  3. "Mystical, Magical Maharashtra Archived 2019-06-30 at the Wayback Machine," Milind Gunaji, Popular Prakashan, 2010, ISBN 9788179914458