सुलैमान

इजराइल का राजा व डेविड का पुत्र

सुलैमान (९६१-९२२ ई. पू.) इब्राहीमी धर्मों के अनुसार यहूदियों के राजा दाउद और बेथसाबे का पुत्र। उन्हें एक नबी तथा इस्लाम में एक पैगम्बर भी माना जाता है। बाइबल और कुरान के कथा के अनुसार अपनी माता, थाजक सादोक तथा नबी नायन के सम्मिलित प्रयास से सुलैमान अपने अग्रज अदोन्या का अधिकार अस्वीकार कराने में समर्थ हुए और वह स्वयं राजा बन गए। हिब्रू बाइबल ने उन्हें यरूशलेम में पहले मंदिर के निर्माता के रूप में पहचाना,[3] अपने शासनकाल के चौथे वर्ष में, उनके और उनके पिता के पास अकूत संपत्ति का उपयोग करके। उसने मंदिर को इस्राएल के परमेश्वर, यहोवा को समर्पित किया।

सुलैमान
Salomons dom.jpg
The Judgment of Solomon, 1617 by Peter Paul Rubens (1577–1640)
King of Israel
शासनावधिc. 970–931 BCE
पूर्ववर्तीदाउद
उत्तरवर्तीRehoboam
जन्मc. 990 BCE
यरुशलम, United Kingdom of Israel
निधनc. 931 BCE (aged c. 58 – 59)
Jerusalem, United Kingdom of Israel
समाधि
Jerusalem
जीवनसंगीNaamah, Pharaoh's daughter
700 wives of royal birth and 300 concubines[1][2]
संतान
घरानाHouse of David
पितादाउद
माताBathsheba

परिचयसंपादित करें

बाइबिल में दिए गए कहानी के अनुसार सुलैमान ने यरुशलम का विश्वविख्यात मंदिर तथा बहुत से महल और दुर्ग बनवाए। अपने अंतरराष्ट्रीय संबंधों को सदृढ़ बना लेने के उद्देश्य से उन्होंने फराऊन की पुत्री के अतिरिक्त और बहुत सी विदेशी राजकुमारियों के साथ विवाह किया। उन्होंने यरुशलेम के मंदिर को देश के धार्मिक जीवन का केंद्र बनाया और अनेक अन्य बातों में भी केंद्रीकरण को बढ़ावा दिया।

अपने निर्माण कार्यों के कारण उन्होंने प्रजा पर करों का अनुचित भार डाल दिया था जिससे उनकी मृत्यु के बाद विद्रोह हुआ और उनके राज्य के दो टुकड़े हो गए-

  • (१) उत्तर में इसराएल अथवा समारिया जो जेरोबोआम के शासन में आ गया और जिसमें दस वंश सम्मिलित हुए,
  • (२) दक्षिण में यहूदा अथवा यरुसलेम, जिसमें दो वंश सम्मिलित थे और जो रोवोआप के शासन में आ गया।

परवर्ती पीड़ितों ने सुलैमान को आदर्श के रूप में देखकर उनको यहूदियों का सबसे प्रतापी राजा मान लिया है किंतु वास्तविकता यह है कि अत्यधिक केंद्रीकरण तथा करभार के कारण उनका राज्यकाल विफलता में समाप्त हुआ। उनके द्वारा निर्मित भवन उनकी ख्याति के एक मात्र आधार थे। वह अपनी बुद्धिमानी के लिए प्रसिद्ध हुए और इस कारण नीति, उपदेशक, श्रेष्ठ गीत, जैसे बाइबिल के अनेक परवर्ती प्रामाणिक ग्रंथों का श्रेय उनको दिया जाता था। कुछ अन्य प्रामाणिक ग्रंथ भी उनके नाम भी प्रचलित हैं।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "In Our Time With Melvyn Bragg: King Solomon". UK: BBC Radio 4. 7 June 2012. अभिगमन तिथि 2012-06-10.
  2. Holy Bible. 1 Kings 11:1–3.सीएस1 रखरखाव: स्थान (link)
  3. "क्या है इज़रायल और फिलिस्तीन का जमीनी विवाद जो खत्म होने का नाम नहीं ले रहा?".

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें



इस्लाम के पैगम्बर कुरान अनुसार
आदम इदरीस नुह हुद सालेह इब्राहीम लूत इस्माइल इशाक याकूब यूसुफ़ अय्यूब  
آدم إدريس نوح هود صالح إبراهيم لوط إسماعيل إسحاق يعقوب يوسف أيوب
आदम (बाइबल) इनोच नोअह एबर शेलह अब्राहम लॉट इश्माएल आइजै़क जैकब जोसफ जॉब

शोएब मूसा हारुन धुल-किफ्ल दाऊद सुलेमान इलियास अल-यासा यूनुस ज़कारिया यहया ईसा मुहम्मद
شُعيب موسى هارون ذو الكفل داود سليمان إلياس إليسع يونس زكريا يحيى عيسى مُحمد
जेथ्रो मोजे़ज़ आरोन एजी़कल डैविड सोलोमन एलीजाह एलीशाह जोनाह जे़करिया जॉन ईशु मसीह पैराच्लीट
  वा