मनोहरथाना राजस्थान के दक्षिण पूर्व में स्थित झालावाड जिले का एक कस्बा है। यह राजस्थान-मध्यप्रदेश सीमा से कुछ ही दुरी पर स्थित है और कस्बे से मध्यप्रदेश सीमा करीब १२ किलोमीटर है। मनोहर थाना ग्राम पंचायत एवं पंचायत समिती है, तहसील मनोहर थाना लगती है। यह ग्राम तीन और से नदियों से घिरा हुआ है। दो तरफ़ से इसे मध्य प्रदेश से आने वाली घोडापछाड नदी (यहाँ इसे कालीखाड नदी भी कहते हैं) घेरती है एवं एक और से परवन नदी। गांव के बाहर ही कालीखाड परवन नदी में मिलती है, जिसे संगम स्थल कहा जाता है।

मनोहरथाना
समय मंडल: आईएसटी (यूटीसी+५:३०)
देश Flag of India.svg भारत
राज्य राजस्थान
सरपंच श्रीमती निकलेश नामदेव
विधायक गोविन्द जी रानीपूरीया

निर्देशांक: 24°08′N 76°29′E / 24.14°N 76.48°E / 24.14; 76.48

गांव के चारों तरफ़ परकोटा है जिसे प्राचीन काल में राजा मनोहर भील नामक राजा ने बनवाया था। राजस्थान के इस दुसरे जल किले मे आज भी राजाओं के समय के खण्डर हुए कक्ष, स्नानागार आदि देखे जा सकते हैं।साथ ही यहां प्राचीन काली मााता का मंदिर भी किले मेे ही है। यहां पर रानी सती मंदिर दर््शशनीय हैं जहां हर साल भाद्रपद कृष्णपक्ष की चतुर्दशी व अमावस्या को मेला लगता है। वहीं भील राजा चक्रसेन भील का इतिहास इस क्षेत्र को गोरवान्वित करता है ।

कुछ वर्ष पहले तक आसपास घने वन भी हुआ करते थे लेकिन अब सब काटे जा चुके हैं।

यह कस्बा आस पास के करीब ५० गाँवों के लिये व्यापार का केन्द्र है। कृषि उपज मंडी भी है जहाँ काश्तकार अपनी फसल बेचने आते हैं।

देखने योग्य स्थलसंपादित करें

प्राचीन किला,राम टेक मन्दिर, नदी तट पर स्थित महादेव धाम, कालीखाड बालाजी, थोडी ही दूरी पर स्थित टनटोकरी स्थित हनुमान मंदिर। इसके अलावा करीब २२ किलोमीटर दूर कामखेडा बालाजी का प्रसिद्ध मंदिर है जहाँ हर मंगलवार को मेला लगता है और दूर दूर से श्रृद्धालू आते है। यह अकलेरा-मनोहरथाना मार्ग पर स्थित है।

करीब २० किलोमीटर दूर मध्यप्रदेश सीमा पर बाघबाघेश्वर धाम है जहाँ शिवजी का मंदिर है

मनोहरथाना से कुछ ही दुरी पर "दो खुपि" हे जहाँ पर (शिव मंदिर) स्थित हे।

आसपास के प्रमुख कस्बे व शहरसंपादित करें

चाचोरनी (राजस्थान)
कामखेड़ा (राजस्थान) २५ किलोमिटर
अकलेरा (राजस्थान) ३७ किलोमीटर (तहसील मुख्यालय)
बीनागंज (मध्यप्रदेश) २७ किलोमीटर
गुना (मध्यप्रदेश) ८० किलोमीटर
भोपाल(मध्यप्रदेश) १७० किलोमीटर
इन्दौर (मध्यप्रदेश) २२० किलोमीटर
कोटा (राजस्थान) १८५ किलोमीटर
झालावाड (राजस्थान)१०० किलोमीटर (जिला मुख्यालय)

कैसे पहुँचेसंपादित करें

राजस्थान से आने के लिये: जयपुर-जबलपुर राष्ट्रीय राजमार्ग 12 (NH १२) पर जयपुर से लगभग ३७० किलोमीटर दूर अकलेरा से मनोहर थाना के लिये अलग रास्ता निकलता है। कोटा एवं झालावाड से नियमित बस सेवा उपलब्ध है।

मध्यप्रदेश की तरफ़ से : आगरा-मुम्बई राष्ट्रीय राजमार्ग 3 (NH 3) पर बीनागंज कस्बे से रास्ता निकलता है। बीनागंज के लिये इन्दौर, भोपाल एवं गुना से नियमित बसें उपलब्ध हैं। बीनागंज से प्राइवेट जीप व टेक्सी का सहारा लेना होता है। बीनागंज में रेलवे लाइन भी है, स्टेशन का नाम चांचौडा-बीनागंज (Station code CBK) है।

कहाँ ठहरेंसंपादित करें

ठहरने के ज्यादा विकल्प उपलब्ध नहीं हैं। सरकारी डाकबंगले के अलावा बस स्टेण्ड पर एक धर्मशाला है।

व्यापार एवं वाणिज्यसंपादित करें

कस्बा आसपास के कई गाँवों के लिये व्यापार का केन्द्र है। इलाके में मुख्य फ़सलें सोयाबीन, सरसों, धनिया, चना, मक्का, गेहूँ आदि होती हैं जो मनोहरथान कृषि उपज मंडी में बिकने आती हैं। प्रत्येक रविवार को हाट बाजार लगता है। साल में एक बार महाशिवरात्रि के अवसर पर मेला भी लगता है जो करीब एक महीना चलता है और विशेष आकर्षण का केन्द्र होता है।

इन्हे देखेंसंपादित करें

मनोहरथाना किला

भील

राणा पूंजा

भील इतिहास

राजा चक्रसेन भील

राजा मनोहर भील


संदर्भसंपादित करें

  • District Census Handbook:- 👆Jhalawar

http://censusindia.gov.in/2011census/dchb/RajastanA.html



https://books.google.co.in/books?id=SlKYtVF_t3cC&pg=PA242&lpg=PA242&dq=%E0%A4%AE%E0%A4%A7%E0%A5%8D%E0%A4%AF+%E0%A4%AA%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A4%A6%E0%A5%87%E0%A4%B6+%E0%A4%AE%E0%A5%87%E0%A4%82+%E0%A4%AA%E0%A4%B0%E0%A4%B5%E0%A4%A8&source=bl&ots=A8iHeQBvIl&sig=ACfU3U3g6nYB2bW7HST_1QYD2QrvyNJ7MQ&hl=en&sa=X&ved=2ahUKEwi55YOkgZLoAhWe4HMBHQuhCF84ChDoATADegQIARAB#v=onepage&q=%E0%A4%AE%E0%A4%A7%E0%A5%8D%E0%A4%AF%20%E0%A4%AA%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A4%A6%E0%A5%87%E0%A4%B6%20%E0%A4%AE%E0%A5%87%E0%A4%82%20%E0%A4%AA%E0%A4%B0%E0%A4%B5%E0%A4%A8&f=false