'मेवात' वर्तमान समय में यह जिला हरियाणा राज्य के दक्षिण में पड़ता है सन 2005 में माननीय मुख्यमंत्री श्री ओमप्रकाश चौटाला ने इस जिले को वर्तमान गुरुग्राम और फरीदाबाद जिलों के कुछ हिस्सों को काटकर अलग जिला बनाया था।इस ज़िले की सीमाएं वर्तमान में पूर्व में पलवल जिला और पश्चिम में राजस्थान पड़ता हैं। तथा उत्तर में गुरुग्राम और दक्षिण पूर्व राजस्थान और उत्तर प्रदेश की सीमाएं लगती है। [1] यह सीमाएं ईसा पूर्व ५वीं शताब्दी में स्थापित प्राचीन राज्य 'मत्स्य' से मेल खाती हैं।

आधुनिक समय में हरियाणा स्थित मेवात जिला है। जिसका नाम बदल कर हरियाणा सरकार ने नूह रख दिया है जो साल 2016 में माननीय मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर ने किया था

मेवात जिला हरियाणा का एक जिला भी है जिसका मुख्यालय नूँह में स्थित है। इस जिले का क्षेत्रफल १९१२ वर्ग किमी है तथा जनसंख्या २०११ की जनगणना के अनुसार 1089406 है।

मेवात के स्थानीय निवासी 'मेव' कहलाते हैं।[2] जिस क्षेत्र में मेव लोग रहते हैं उसे ही मेवात कहा जाता है। अनुमानतः इस क्षेत्र में १२०० गाँव हैं, जिनमें ५५० हरियाणा में, ६०० राजस्थान में व ५० उत्तर प्रदेश में पड़ते हैं।[कृपया उद्धरण जोड़ें]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Mewat" Archived 2013-12-13 at the Wayback Machine The Imperial Gazetteer of India, 1909, v. 17, p. 313.
  2. "शिव की पूजा करने वाले मेव मुसलमानों को आदर्श मुस्लिम बनाने के लिए शुरू हुई तबलीगी जमात".