मुख्य मेनू खोलें

बिपाशा बसु एक भारतीय फिल्म अभिनेत्री और मॉडल हैं, जो ज्यादातर हिन्दी फिल्मों में काम करती हैं। इसके अलावा तमिल, तेलुगू, बंगाली और अंग्रेजी भाषा की फिल्मों में भी दिखाई दे चुकी हैं। इन्हें कई पुरस्कार भी प्राप्त हो चुके हैं, जिसमें फिल्मफेयर के 6 नामांकन और एक पुरस्कार भी शामिल है। इन्हें ज्यादातर डरावनी फिल्मों में काम करते हुए देखा गया है।

बिपाशा बसु
Bipasha Basu at The Great Indian Wedding Book launch (5) (cropped).jpg
अगस्त 2017 के एक कार्यक्रम के दौरान
जन्म 7 जनवरी 1979 (1979-01-07) (आयु 40)[1]
नई दिल्ली, भारत
राष्ट्रीयता भारतीय
व्यवसाय अभिनेत्री, मॉडल
जीवनसाथी करन सिंह ग्रोवर (वि॰ 2016)[2]

इनका जन्म दिल्ली में हुआ और कोलकाता में पली-बढ़ी हैं। इन्होंने 1996 में सुपरमॉडल का कॉन्टेस्ट जीता था, और बाद में फेशन मॉडल के रूप में अपना करियर आगे बढ़ाने लगीं। इसके बाद से इन्हें फिल्मों में काम करने के बहुत से ऑफर आने लगे थे। जिसके बाद इन्होंने अजनबी (2001) में अपने नकारात्मक किरदार के साथ फिल्मों में काम करना शुरू किया था। इस फिल्म के कारण इन्हें सर्वश्रेष्ठ शुरुआत के लिए फिल्मफेयर पुरस्कार भी मिला। इनकी पहली मुख्य भूमिका वाली फिल्म राज़ (2002) थी, जो ब्लॉकबस्टर साबित हुई और इसके कारण इनका सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री हेतु फिल्मफेयर पुरस्कार का नामांकन भी हुआ था।

फिल्मों में अभिनय के अलावा इनकी रुचि सेहत बनाने में भी है। इन्हें कई सारी सेहत बनाने वाली वीडियो में देखा जा सकता है। इसके अलावा इन्होंने कई सारे ब्रांड्स और उत्पादों से जुड़ी हुई हैं। इसके अलावा इन्होंने नारीवाद और जानवरों के अधिकारों को लेकर भी आवाज उठाई है। इनका काफी समय से जॉन अब्राहम के साथ चक्कर चल रहा था, पर 2016 में इन्होंने करन सिंह ग्रोवर से शादी कर ली।

अभिनयसंपादित करें

शुरुआत : 2001-02संपादित करें

सुपरमॉडल प्रतियोगिता में बिपाशा ने भी भाग लिया था, जिसमें एक जज, विनोद खन्ना भी थे। वे बिपाशा को अपने बेटे, अक्षय खन्ना के साथ हिमालय पुत्र फिल्म में लेने की सोच रहे थे, पर बिपाशा ने ये कह कर इंकार कर दिया कि अभी वो काफी छोटी हैं और ये किरदार अंजला झवेरी को मिल गया। घर आने के बाद इन्हें जया बच्चन ने अपने बेटे, अभिषेक बच्चन के साथ जेपी दत्ता की फिल्म "आखिरी मुग़ल" के लिए मना लिया, पर ये फिल्म बन नहीं पाया और दत्ता ने इस फिल्म की स्क्रिप्ट को बदल कर करीना कपूर के साथ रिफ्यूजी (2000) बना ली। हालांकि इस फिल्म के लिए पहले सुनील शेट्टी के साथ बिपाशा को चुना गया था, पर इन्होंने मना कर दिया।

2001 में इन्होंने अक्षय कुमार के साथ विजय गिलानी की अजनबी में काम किया और पहली बार हिन्दी फिल्मों में कदम रखा। इस फिल्म को अब्बास-मस्तान ने निर्देशित किया था और ये फिल्म बॉक्स ऑफिस में सफल रही पर कुछ नापसंद समीक्षाओं का कारण भी बनी। हालांकि इन्हें अपने नकारात्मक किरदार के कारण काफी अच्छी समीक्षा मिली और इनके प्रदर्शन के कारण इन्हें सर्वश्रेष्ठ शुरुआत के लिए फिल्मफेयर पुरस्कार भी मिला था।

साल 2002 की शुरुआत विक्रम भट्ट द्वारा निर्देशित राज फिल्म के साथ हुआ था, जो बहुत ही सफल फिल्म साबित हुई और हिन्दी फिल्म उद्योग में इनकी जड़ें पक्की करने में काफी मददगार भी साबित हुई। इस फिल्म में ये एक ऐसी औरत का किरदार निभा रही थीं, जो आत्माओं से संपर्क करती है और छुपे हुए राज तक पहुँचती है। इसे समीक्षकों ने काफी सराहा था। द ट्रिब्यून ने लिखा कि "ये बिपाशा बसु हैं, जो अपने प्रदर्शन से पूरे शो को ले गईं"। उन्हें राज के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का फिल्मफेयर नामांकन भी हुआ था।

इसके बाद इन्होंने संजय गांधवी की मेरे यार की शादी है में एक सहायक भूमिका में काम किया था, जो पैसे कमाने में सफल रहा। हालांकि डेविड धवन की चोर मचाये शोर इनका पहला ऐसा फिल्म बना, जो कमाई के मामले में सफल नहीं हो पाया। इसके अलावा ये महेश बाबू और लीसा रे के साथ तेलुगू फिल्म, टक्करी दोंगा में एक सहायक किरदार के रूप में दिखाई दी। इसी साल इनकी एक और फिल्म, गुनाह भी बॉक्स ऑफिस में सफल नहीं हो पाई। इस फिल्म में बिपाशा एक पुलिस अफसर की भूमिका निभा रही थी, जिसे दोषी से प्यार हो जाता है और वो उसे सुधारने का प्रयास करते रहती है। वैरायटी के डेरेक एले ने कहा कि एक इनके लिए ये किरदार सही नहीं था।

2003–05संपादित करें

2003 में इन्होंने पूजा भट्ट की कामुक थ्रिलर फिल्म, जिस्म में जॉन अब्राहम के साथ काम किया था, जिसे समीक्षकों ने काफी सराहा और बॉक्स ऑफिस में भी ठीक-ठाक कमाई करने में सफल रहा था। इस फिल्म में ये एक अमीर आदमी की पत्नी के किरदार में हैं, जिसका एक शराबी वकील के साथ चक्कर चलते रहता है और इस वजह से वो अपने पति को मारने की योजना बनाती है। इस फिल्म को चैनल 4 के सर्वे के अनुसार शीर्ष 100 कामुक दृश्य वाले फिल्मों में 92वां स्थान मिला था। बॉलीवुड हंगामा के फिल्म आलोचक, तरण आदर्श ने कहा कि "... असल में इसे आगे ले जाने वाली बिपाशा बसु है; उनकी अदाएं और गहरी आवाज, ठंडा और संतुलित व्यक्तित्व इन्हें ज़ीनत अमान और परवीन बॉबी के बाद सबसे प्रभावशाली मन मोह लेने वाली बनाता है।" इस फिल्म के कारण इनका नामांकन फिल्मफेयर के सर्वश्रेष्ठ खलनायक पुरस्कार के लिए हुआ था। लेकिन अगले फिल्म, ज़मीन (2003) दर्शकों के बीच कुछ भी प्रभाव छोड़ने में विफल रही।

2004 में इनकी चार फिल्में सिनेमाघरों में दिखाई गई थी, जिसमें सभी को सामान्य मिली जुली समीक्षा ही मिली थी। इस दौरान इन्होंने दूसरी बार विक्रम भट्ट के साथ एतबार फिल्म में काम किया था। इस फिल्म में ये एक जवान लड़की की भूमिका निभा रही थीं, जिसे एक मनोरोगी से प्यार हो जाता है। रेडिफ़.कॉम ने कहा कि "न तो ये किरदार भरोसा करने लायक लगा, और न तो फिल्म की कहानी रुचि पैदा करने लायक लगी" इसके बाद अगली फिल्म मणि शंकर की रुद्राक्ष थी, जो बॉक्स ऑफिस में काफी बुरी तरह असफल रही। उसके बाद इन्होंने रक्त फिल्म में कार्ड द्वारा भविष्य देखने वाली एक औरत की भूमिका निभाई, जो अपने इस शक्ति से हत्या के मामले को सुलझाने की कोशिश करते रहती है। प्लेनेटबॉलीवुड की फिल्म आलोचक, श्रुति भसीन ने कहा कि "बिपाशा बसु का अलग रूप और किरदार में पसंद आई"। इसके बाद इस साल की उनकी आखिरी फिल्म अनिल शर्मा की मदहोशी थी, जिसमें इन्होंने जॉन अब्राहम के साथ काम किया था। इसमें इन्हें एक मानसिक रूप से बीमार एक लड़की की भूमिका मिली थी, जिसमें इनके कार्य को आमतौर पर आलोचकों ने अच्छा माना था।

2005 में इन्होंने बॉबी देओल और प्रियंका चोपड़ा के साथ बरसात फिल्म में काम किया। इन्होंने सचिन के साथ तमिल फिल्मों में भी अपनी शुरुआत की और उस फिल्म के हिट होने के बाद इन्होंने प्रकाश झा की अपहरण में भी काम किया। इस फिल्म को सर्वश्रेष्ठ स्क्रीनप्ले के कारण राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार भी मिला। इसी दौरान इन्होंने सैलरी के दिक्कतों के कारण आर्ट फिल्म्स के साथ काम करने से इंकार कर दिया।

अभिनय के साथ साथ बिपाशा ने सोनू निगम के एल्बम "तू" में भी काम किया और जय सीन के म्यूजिक वीडियो "स्टोलेन" में भी अतिथि के रूप में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई।

2005–09संपादित करें

नो एंट्री, कॉर्पोरेट और धूम 2 जैसी फिल्मों से मिली सफलता ने इन्हें एक सफल अभिनेत्री बना दिया। नो एंट्री ने बॉक्स ऑफिस में 750 मिलियन की कमाई की और 2005 की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म बन गई। इस फिल्म में बिपाशा एक बार में काम करने वाली लड़की की भूमिका निभा रही हैं, जो दो आदमियों की पत्नी बनने का नाटक करती है। इस फिल्म के लिए इन्हें सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री का फिल्मफेयर पुरस्कार भी मिला है।

2006 में इन्हें चार खास फिल्मों में देखा गया, जिसमें फिर हेरा फेरी, कॉर्पोरेट, ओमकारा और धूम 2 है। इन सभी फिल्मों की समीक्षा में इन्हें काफी तारीफ हुई और पैसे कमाने में भी सफल रही।

प्रमुख फिल्मेंसंपादित करें

वर्ष फ़िल्म चरित्र टिप्पणी
2015 अलोन संजना/अंजना
2014 क्रीचर 3डी अहाना दत्त
हमशकल्स मिष्टी
2013 द लवर्स तुलजा नाइक
आत्मा माया वर्मा
रेस 2 सोनिया मार्टिन
2012 राज़ 3 शनाया शेखर
जोड़ी ब्रेकर्स सोनाली अग्निहोत्री
प्लेयर्स रिया थापर
2011 दम मारो दम जोए मेंदोनका
2010 आक्रोश गीता
लम्हा अज़ीज़ा
पंख नंदिनी
2009 ऑल द बेस्ट: फन बिगिन्स जाह्नवी चोपड़ा
आ देखें जरा सिमी चटर्जी
2008 रब ने बना दी जोड़ी "फिर मिलेंगे चलते चलते" गाने में विशेष उपस्थिती
बचना ऐ हसीनो राधिका फिल्मफेयर के लिए नामांकित
रेस सोनिया मार्टिन
2007 गोल रूमाना
मिस्टर फ्रौड
नेहले पे देहला पूजा साहनी
ओम शांति ओम
2006 जाने होगा क्या अदिति चोपड़ा
हमको दीवाना कर गये
फिर हेरा फेरी अनुराधा
धूम २ शोनाली बोस/मोनाली बोस
ओमकारा
डरना जरूरी है वर्षा
अलग अतिथि भूमिका (गीत)
2005 चेहरा मेघा जोशी / मेघा दीवान
अपहरण मेघा बसु
बरसात एना वीरवानी
शिकार नताशा
नो एन्ट्री बॉबी
2004 रक्त
मदहोशी अनुपमा कौल
रुद्राक्ष
एतबार
2003 जिस्म सोनिया खन्ना
फुटपाथ संजना श्रीवास्तव
ज़मीन
2002 राज़ संजना धनराज
गुनाह इंस्पेक्टर प्रभा नारायण
मेरे यार की शादी है रिया
चोर मचाये शोर
आँखें
2001 अजनबी सोनिया/नीता

नामांकन और पुरस्कारसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Times News Network (TNN) (6 January 2012). "Bipashu Basu to marry by end of 2012?". The Times of India. अभिगमन तिथि 14 January 2012.
  2. "First Pics: Bipasha Basu and Karan Singh Grovers Mehendi". NDTV. अभिगमन तिथि 29 April 2016.

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें