मुख्य मेनू खोलें
राष्ट्रपति भवन का मुख्य द्वार, जो भारत के राष्ट्रपति का आधिकारिक आवास है

भारत के राष्ट्रपति देश का राष्ट्राध्यक्ष और भारत का प्रथम नागरिक है। राष्ट्रपति के पास भारतीय सशस्त्र सेना की भी सर्वोच्च कमान है। भारत का राष्ट्रपति लोक सभा, राज्यसभा और विधानसभा के निर्वाचित सदस्यों द्वारा चुना जाता है। भारत के राष्ट्रपति का कार्यकाल 5 वर्षों का होता है।

भारत की स्वतंत्रता से अबतक 13 राष्ट्रपति हो चुके है। भारत के राष्ट्रपति पद की स्थापना भारतीय संविधान के द्वारा की गयी है। इन 13 राष्ट्रपतियों के अलावा 3 कार्यवाहक राष्ट्रपति भी हुए हैं जो पदस्थ राष्ट्रपति की मृत्यु के बाद बनाये गए है। भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ॰ राजेंद्र प्रसाद थे।

7 राष्ट्रपति निर्वाचित होने से पूर्व राजनीतिक पार्टी के सदस्य रह चुके है। इनमें से 6 भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस और 1 जनता पार्टी के सदस्य शामिल हैं, जो बाद में राष्ट्रपति बने। दो राष्ट्रपति, ज़ाकिर हुसैन और फ़ख़रुद्दीन अली अहमद, जिनकी पदस्थ रहते हुए मृत्यु हुई। भारत के भूतपूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी है जो 25 जुलाई 2012 को भारत के 13 वें राष्ट्रपति के तौर पर निर्वाचित हुए राष्ट्रपति रहने से पूर्व वे भारत सरकार में वित्त मंत्री, विदेश मंत्री, रक्षा मंत्री और योजना आयोग के उपाध्यक्ष रह चुके है। वे मूल रूप से पश्चिम बंगाल के निवासी है इसलिए वे इस राज्य से पहले राष्ट्रपति हैं। इससे पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल भारत की पहली महिला राष्ट्रपति है। वर्तमान में 25 जुलाई 2017 को राष्ट्रपति का पद रामनाथ कोविंद को प्राप्त हुआ है।

राष्ट्रपति

भारत के राष्ट्रपतियों की सूचि इस प्रकार है[1] -

     इस पृष्ठभूमि के अंतर्गत लिखे गए नाम कार्यवाहक राष्ट्रपतियों के हैं।

# नाम चित्र पदग्रहण पदमुक्त उपराष्ट्रपति टिप्पणी
0 डॉ॰ राजेंद्र प्रसाद
(१८८४-१९६३)
२६ जनवरी १९५० १३ मई १९६२ डॉ॰ सर्वपल्ली राधाकृष्णन १९५२ चुनाव & १९५७ चुनाव
राजेंद्र प्रसाद, जो कि बिहार से थे, भारत के प्रथम राष्ट्रपति बने। वे स्वतंत्रता सेनानी भी थे। वे एकमात्र राष्ट्रपति थे जो कि दो बार रष्ट्रपति बने।
डॉ॰ सर्वपल्ली राधाकृष्णन
(१८८८ –१९७५)
  १३ मई १९६२ १३ मई १९६७ ज़ाकिर हुसैन १९६२ चुनाव
राधाकृष्णन मुख्यतः दर्शनशास्त्री और लेखक थे। वे आन्ध्र विश्वविद्यालय और काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के कुलपति भी थे।
ज़ाकिर हुसैन
(१८९७ –१९६९)
१३ मई १९६७ ३ मई १९६९ वराहगिरि वेंकट गिरि १९६७ चुनाव
ज़ाकिर हुसैन अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के कुलपति और पद्म विभूषण और भारत रत्न के भी प्राप्तकर्ता थे।
वराहगिरि वेंकट गिरि
(१८९४–१९८०)
३ मई १९६९ २० जुलाई १९६९ वी.वी. गिरि पदस्थ राष्ट्रपति ज़ाकिर हुसैन की मृत्यु के बाद कार्यवाहक राष्ट्रपति बने।
मुहम्मद हिदायतुल्लाह
(१९०५–१९९२)
२० जुलाई १९६९ २४ अगस्त १९६९ हिदायतुल्लाह भारत के सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश और आर्डर ऑफ ब्रिटिश इंडिया के प्राप्तकर्ता थे
वराहगिरि वेंकट गिरि
(१८९४–१९८०)
२४ अगस्त १९६९ २४ अगस्त १९७४ गोपाल स्वरूप पाठक १९६९ चुनाव
गिरि एकमात्र व्यक्ति थे जो कार्यवाहक राष्ट्रपति और राष्ट्रपति दोनों बने। वे भारत रत्न से सम्मानित हो चुके थे।
फ़ख़रुद्दीन अली अहमद
(१९०५–१९७७)
२४ अगस्त १९७४ ११ फ़रवरी १९७७ बासप्पा दनप्पा जत्ती १९७४ चुनाव
फ़ख़रुद्दीन अली अहमद राष्ट्रपति बनने से पूर्व मंत्री थे। उनकी पदस्थ रहते हुए मृत्यु हो गयी। वे दूसरे राष्ट्रपति थे जो अपना कार्यकाल पूरा न कर सके।
बासप्पा दनप्पा जत्ती
(१९१२–२००२)
११ फ़रवरी १९७७ २५ जुलाई १९७७ बी.डी. जत्ती, फ़ख़रुद्दीन अली अहमद की मृत्यु के बाद भारत के कार्यवाहक राष्ट्रपति बने। इससे पहले वह मैसूर राज्य के मुख्यमंत्री थे।
नीलम संजीव रेड्डी
(१९१३–१९९६)
  २५ जुलाई १९७७ २५ जुलाई १९८२ मुहम्मद हिदायतुल्लाह १९७७ चुनाव
नीलम संजीव रेड्डी आन्ध्र प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री थे। रेड्डी आन्ध्र प्रदेश से चुने गए एकमात्र सांसद थे। वे २६ मार्च १९७७ को लोक सभा के अध्यक्ष चुने गए और १३ जुलाई १९७७ को यह पद छोड़ दिया और भारत के छठे राष्ट्रपति बने।
ज्ञानी जैल सिंह
(1916–1994)
२५ जुलाई १९८२ २५ जुलाई १९८७ रामास्वामी वेंकटरमण १९८२ चुनाव
जैल सिंह मार्च १९७२ में पंजाब राज्य के मुख्यमंत्री बने और १९८० में गृहमंत्री बने।
रामास्वामी वेंकटरमण
(१९१०–२००९)
  २५ जुलाई १९८७ २५ जुलाई १९९२ शंकरदयाल शर्मा १९८७ चुनाव
In 1942, वेंकटरमण भारतीय स्वतंत्रता संग्राम आन्दोलन में जेल भी गए। जेल से छुटने के बाद वे कांग्रेस पार्टी के सांसद रहे। इसके अलावा वे भारत के वित्त एवं औद्योगिक मंत्री और रक्षा मंत्री भी रहे।
शंकरदयाल शर्मा
(१९१८–१९९९)
  २५ जुलाई १९९२ २५ जुलाई १९९७ के. आर. नारायणन १९९२ चुनाव
शर्मा मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री और भारत के संचार मंत्री रह चुके थे। इसके अलावा वे आन्ध्र प्रदेश, पंजाब और महाराष्ट्र के राज्यपाल भी थे।
१० के. आर. नारायणन
(१९२०–२००५)
  २५ जुलाई १९९७ २५ जुलाई २००२ कृष्ण कान्त १९९७ चुनाव
नारायणन चीन,तुर्की,थाईलैंड और संयुक्त राज्य अमेरिका में भारत के राजदूत रह चुके थे। उन्हें विज्ञान और कानून में डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त थी। वे जवाहरलाल नेहरु विश्वविद्यालय के कुलपति भी रह चुके हैं।
११ ए॰ पी॰ जे॰ अब्दुल कलाम
(१९३१-२०१५)
  २५ जुलाई २००२ २५ जुलाई २००७ भैरोंसिंह शेखावत २००२ चुनाव
कलाम मुख्यतः वैज्ञानिक थे जिन्होंने मिसाइल और परमाणु हथियार बनाने मुख्य योगदान दिया। इस कारण उन्हें भारत रत्न भी मिला। उन्हें भारत का मिसाइल मैन भी कहा जाता है।
१२ प्रतिभा पाटिल
(जन्म १९३४)
  २५ जुलाई २००७ २५ जुलाई २०१२ मोहम्मद हामिद अंसारी २००७ चुनाव
प्रतिभा पाटिल भारत की प्रथम महिला राष्ट्रपति बनी। वह राजस्थान की भी प्रथम महिला राज्यपाल थी।
१३ प्रणब मुखर्जी
(जन्म १९३५)
  २५ जुलाई २०१२ 24 जुलाई 2017 मोहम्मद हामिद अंसारी २०१२ चुनाव
प्रणब मुखर्जी भारत सरकार में वित्त मंत्री, विदेश मंत्री, रक्षा मंत्री और योजना आयोग के उपाध्यक्ष रह चुके है।
राम नाथ कोविन्द (जन्म:1 अक्टूबर 1945)    25 जुलाई 2017 पदस्थ वेंकैया नायडू राज्यसभा सदस्य तथा बिहारराज्य के राज्यपाल रह चुके हैं।

इन्हें भी देखें

सन्दर्भ