स्वागत! Crystal Clear app ksmiletris.png नमस्कार Booksummary12 जी! आपका हिन्दी विकिपीडिया में स्वागत है।

-- नया सदस्य सन्देश (वार्ता) 18:53, 8 दिसम्बर 2018 (UTC)

तिलक मेहता विकिपीडियासंपादित करें

दोस्तों आज हम बात करने जा रहे है। एक ऐसे इंटरप्रेन्योर की जिसने मात्र 13 साल की उम्र में अपनी खुद की एक कंपनी खड़ी कर दी। जिनका नामा है। Tilak Mehta तिलक मेहता ने “पेपर एंड पार्सेल्स” नाम की एक कंपनी की शुरवात की है ! जिनका मकशद है। कि कम से कम समय में डिलवरी पहुचना और इनकी कंपनी मुंबई में सबसे जल्दी से जल्दी डिलवरी करने के लिए मशूहर है ! उनका स्टार्टअप लॉजिस्टिक क्षेत्र से जुड़ा है। इतनी कम उम्र में यह उपलब्धि हासिल करके वे सबसे कम उम्र के इंटरप्रेन्योर की सूची में शामिल हो गए है ! तिलक मेहता कहानी

अब आपके दिमाग में कही न कही ये बात आ रहा होगा। कि 13 साल के बच्चे में कंपनी खड़े करने का जोश ( passion ) कहाँ से आया तो हम आपको बता दे कि लेकिन उससे पहले कि यह जान लीजिए कि तिलक को कंपनी स्टार्ट करने का उपाय कहा से आया ! so lets begin

तिलक को कंपनी खड़ा करने का उपाय / ख्याल कहाँ से आया –संपादित करें

नाम :- तिलक मेहता

उम्र :- 13 साल

फाउंडर :- पेपर एंड पार्सेल्स

स्थान :- मुंबई के रहने वाले

तिलक मेहता 8वी कक्षा के छात्र है। और सभी बच्चो के जैसा इनका भी दिमाग है. लेकिन एक दिन कुछ ऐसा हुआ तिलक अपने चाचा के घर गए थे ! और साथ में वह अपनी कुछ जरुरी किताबो को लेकर गए थे। लेकिन तिलका उन किताबो को अपने चाचा के घर भूल गए और वापस आ गए , उसके बाद तिलक को जब याद आया की उन्होंने ने तो अपनी किताबो को तो चाचा के घर भूल आये है !

तब उन्होंने अपने पापा से पूछा कि – पापा क्या कोई ऐसी कमपनी नही है। जो एक दिन में ही कुरियर डिलवरी कर दे ! तब उसके पापा ने कहा कि बीटा ऐसी कोई कमपनी नहीं है। जो एक दिन में ही कुरियर डिलवरी कर दे , लेकिन अगर बाई चांस ऐसी कोई कंपनी है। भी तो उसका चार्जेज बहुत ही ज्यादा होगा !

कुछ समय के बाद तिलक ने अपने स्कूल में एक डब्बेवाले को देखा। जो कुरियर डिलीवरी करता था। तभी तिलक के दिमाग में एक आईडिया आया कि क्यों न डब्बेवालों के साथ मिलकर एक कंपनी शुरू की जाए , जो उसी दिन ( SameDay ) कुरियर डिलीवर कर सके ! उसके बाद मैंने सोचा कि क्यों न उन डब्बेवालों के पास जाकर पूछ कि उनका (Pricing Range) कितना है। और उनकी सर्विस किधर से किधर तक है ! फिर मैंने सबकुछ कैलकुलेट किया ! तभी मेरे मन में यह यह कमपनी स्टार्ट करना का एक छोटा सा ख्याल आया था !

इसके बाद तिलक मेहता ने डिब्बेवाले के साथ मिलकर अपने इसे आईडिया को शेयर किया ! और एक एक नई कंपनी स्टार्ट कर दी।


तिलक की कंपनी कैसे काम करती है ?-संपादित करें

तिलक की कंपनी पार्सेल्स का काम करती हैं, यानि मेडिकल से लेकर कोई भी जरुरी कागजाद हो। तिलक की कंपनी उसको जल्द से जल्द आपके पास पंहुचा देती है ! दरसल तिलक ने “पेपर एंड पार्सेल्स ” नाम से एक एप्लीकेशन लांच किया है। जिसे किसी भी एंड्राइड या स्मार्टफोन में डाउनलोड किया जा सकता हैं| उस सॉफ्टवेयर(Software) को डाउनलोड(Download) करने के बाद आप उसमे परसल की पिक पॉइंट अपना नाम और जहाँ आपको वो पार्सल चाहिए वो लोकेशन भर दीजिए। उसके बाद आपको वो ठीक उसी जगह मिल जाएगा।

200 लोगो को नौकरी –संपादित करें

तिलक के इस स्टार्टअप में 200 कर्मचारी काम कर रहे है ! इसके अलावा परोक्ष रूप से करीब 300 डिब्बावाले पार्टनर के तौर पर जुड़े है। तिलक रोजाना 1200 डिलीवरी भेजते है। इतना ही नहीं तिलक की इस कंपनी उनके चाचा सीईओ के रूप में है। जो पहले एक बैंकर थे ! तिलक ने अपनी कंपनी से अगले दो साल में 100 करोड़ की आमदनी का लक्ष्य रखा है ! तिलक ने मुंबई में खाना पहुंचाने वाले यानी डिब्बेवालों की मदद ली , ताकि , दूर तक सामान पहुंचाया जा सके. डब्बावाले एक पार्सल के लिए 40 से 180 रुपये तक लेते है !

तिलक मेहता की मदद ?संपादित करें

तिलक ने इस सुपर आईडिया चाचा के साथ शेयर किया ! जिनका नाम ” घनश्याम पारेख ” है। जो एक बैंकर थे ! लेकिन अब वो तिलक की कंपनी के सी.ई.ओ है ! उन्हें तिलक का यह आईडिया इतना अच्छा लगा की उन्होंने अपनी बैंकर की जॉब से रिजाइन दे दिया और तिलक की मदद करने लगे !

तिलक की स्कूल की पढ़ाई –संपादित करें

इन सभी कार्य में व्यस्त होने के बाद भी ऐसा नहीं है ! कि तिलक पढ़ाई नहीं करते है। वो स्कूल भी जाते है ! और अपना होमवर्क भी करते है। उसके बाद शाम को खेलने का समय भी निकलते है , और अपने दोस्तों के साथ खेलते है। लेकिन शनिवार और रविवार के दिन तिलक अपना पूरा समय कंपनी को देते है ! तभी तो आज उनकी कंपनी सुपर हिट है !

जून 2019संपादित करें

  विकिपीडिया पर आपका स्वागत है। हालांकि सबका विकिपीडिया पर योगदान करने के लिए स्वागत है, परन्तु आपके द्वारा किए गए हाल ही के संपादनों में कम-से-कम एक सम्पादन सकारात्मक प्रतीत नहीं होता है व प्रत्यावर्तित या हटा दिया गया है। किसी भी संपादन परीक्षण के लिए कृपया प्रयोस्थल का उपयोग करें। विकिपीडिया पर योगदान करने हेतु सभी का स्वागत है, फिर भी कृपया हमारी नीतियों और दिशानिर्देशों से स्वयं को अवगत करायें। आप इनके बारे में जानकारी स्वागत पृष्ठ पर पा सकते हैं जो कि इस ज्ञानकोश में रचनात्मक रूप से योगदान करने के बारे में और जानकारी प्रदान करता है। धन्यवाद। अशोक   वार्ता 19:23, 19 जून 2019 (UTC)