नेपाली, नेपाल की राष्ट्रभाषा है और भारतीय संविधान की ८वीं अनुसूची में सम्मिलित भाषाओं में से एक है। इसे 'खस कुरा', 'खस भाषा' या 'गोर्खा खस भाषा' भी कहते हैं तथा कुछ सन्दर्भों में 'गोर्खाली' एवं 'पर्बतिया' भी। नेपाली भाषानेपाल की राष्ट्रीय भाषा हैं। यह भाषा नेपाल की लगभग ४५% लोगों की मातृभाषा भी है। यह खस भाषा नेपाल के अतिरिक्त भारत के सिक्किम, पश्चिम बंगाल, उत्तर-पूर्वी राज्यों (आसाम, मणिपुर, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय) तथा उत्तराखण्ड के अनेक भारतीय लोगों की मातृभाषा है। भूटान, तिब्बत और म्यानमार के भी अनेक लोग यह भाषा बोलते हैं।

गोर्खाली खस
गोर्खा/खसकुरा/पर्वते
बोली जाती है नेपाल, भारत, भूटान एवं बर्मा
कुल बोलने वाले प्रथम भाषा: ~ ५ करोड़
द्वितीय भाषा: १ करोड़
श्रेणी २ [निवासी]
भाषा परिवार हिन्द-यूरोपीय
लेखन प्रणाली देवनागरी, कैथी एवं विभिन्न क्षेत्रीय लिपियाँ
आधिकारिक स्तर
आधिकारिक भाषा घोषित भारत, नेपाल
नियामक नेपाल प्रज्ञा प्रतिष्ठान नेपाली भाषा की शुद्ध प्रयोग के आधिकारिक निर्णय लेता हैं।
भाषा कूट
ISO 639-1 ne
ISO 639-2 nep
ISO 639-3 nep
Nepali language status.png
भारत में नेपाली बोलने वालों का प्रभाव
नेपाली भाषा के क्षेत्र

गोर्खा/खस भाषा साहित्यसंपादित करें

 
भानुभक्त आचार्य, नेपाल के आदिकवि

खस साहित्य के आदिकवि भानुभक्त आचार्य है। इस भाषा के महाकवि लक्ष्मीप्रसाद देवकोटा है। इस भाषा के प्रमुख लेखक है :-

नेपाली ध्वनिविज्ञानसंपादित करें

नेपाली में ११ वटा ध्वनिकीय विशिष्ट स्वर और ३० व्यञ्जन हैं। नेपाली में दश डिफ़्थॉंग/संध्यक्षर भी मौजूद हैं।

कुछ वाक्यसंपादित करें

हिंदी नेपाली
आपका नाम क्या है ? तपाईंको नाम के हो ?
तुम्हारा नाम क्या है ? तिम्रो नाम के हो?
मेरा नाम राम है। मेरो नाम राम हो।
आपका घर कहां है? तपाईंको घर कहाँ हो?
तुम्हारा घर कहां है? तिम्रो घर कहाँ हो?
खाने खाने की जगह कहाँ है? खाना खाने ठाउँ कहाँ छ?
शौचालय कहाँ है? शौचालय कहाँ छ?


  • मलाई नेपाली भाषा आउँदैन (हिन्दीः मुझे नेपाली नहीं आती।)
  • मेरो देश नेपाल हो (हिन्दीः मेरा देश नेपाल है।)
  • तपाईंलाई/तिमीलाई कस्तो छ? (आप/तुम कैसे हो?)
  • के छ? हजुर नमस्कार - (नमस्ते जी कैसे हो?) (अनौपचारिक)
  • संचै हुनुहुन्छ? - (सब ठीक तो है?) (औपचारिक)
  • खाना खाने ठाउँ कहाँ छ? — (खाने खाने की जगह कहाँ है?)
  • काठ्माडौँ जाने बाटो धेरै लामो छ — काठमांडू जाने का रास्ता बहुत लम्बा है।
  • नेपालमा बनेको — नेपाल में निर्मित
  • म नेपाली हूँ — मैं नेपाली हूँ।
  • अरु चाहियो? - और चाहिए?
  • पुग्यो/भयो — बस !

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Dhanesh Jain; George Cardona (2003). The Indo-Aryan languages. Routledge. पृ॰ 251. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780700711307.