चण्डीगढ़

पंजाब और हरियाणा की राजधानी। भारत का एक संघ शासित प्रदेश।
(चंडीगढ़ से अनुप्रेषित)

चण्डीगढ़, (पंजाबी: ਚੰਡੀਗੜ੍ਹ), भारत का एक केन्द्र शासित प्रदेश है, जो दो भारतीय राज्यों, पंजाब (भारत) और हरियाणा की राजधानी भी है। इसके नाम का अर्थ है चंडी का किला। यह हिन्दू देवी दुर्गा के एक रूप चंडिका या चंडी के एक मंदिर के कारण पड़ा है। यह मंदिर आज भी शहर में स्थित है।[4] इसे सिटी ब्यूटीफुल भी कहा जाता है। चंडीगढ़ राजधानी क्षेत्र में मोहाली, पंचकुला और ज़ीरकपुर आते हैं, जिनकी २००१ की जनगणना के अनुसार जनसंख्या ११६५१११ (१ करोड़ १६ लाख) है। भारत की लोकसभा में प्रतिनिधित्व हेतु चण्डीगढ़ के लिए एक सीट आवण्टित है। वर्तमान सोलहवीं लोकसभा में भारतीय जनता पार्टी की श्रीमति किरण खेर यहाँ से साँसद हैं।[5]

चण्डीगढ़
—  शहर और केन्द्र-शासित प्रदेश  —
Skyline of चण्डीगढ़

मोहर
निर्देशांक : 30°45′N 76°47′E / 30.75°N 76.78°E / 30.75; 76.78
देश भारत
जनसंख्या (2011)[1][2]
 • उचित शहर 9,61,587
 • महानगर 10,25,682
 • केन्द्र-शासित प्रदेश 10,55,450
भाषा[3]
 • राजभाषा अंग्रेज़ी
 • अतिरिक्त राजभाषा
समय मण्डल आइएसटी (यूटीसी +5:30)
जालस्थल chandigarh.nic.in

अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर शहरी योजनाबद्धता और वास्तु-स्थापत्य के लिए प्रसिद्ध यह शहर आधुनिक भारत का प्रथम योजनाबद्ध शहर है।[6] चंडीगढ़ के मुख्य वास्तुकार फ्रांसीसी वास्तुकार ली कार्बूजियर हैं, लेकिन शहर में पियरे जिएन्नरेट, मैथ्यु नोविकी एवं अल्बर्ट मेयर के बहुत से अद्भुत वास्तु नमूने देखे जा सकते हैं। शहर का भारत के समृद्ध राज्यों और संघ शसित प्रदेशों की सूची में अग्रणी नाम आता है, जिसकी प्रति व्यक्ति आय ९९,२६२ रु (वर्तमान मूल्य अनुसार) एवं स्थिर मूल्य अनुसार ७०,३६१ (२००६-०७) रु है।[7]

अनुक्रम

इतिहाससंपादित करें

 
शहर के बाहरी क्षेत्र में स्थित एक हिन्दू मंदिर

ब्रिटिश भारत के विभाजन उपरांत १९४७ में पंजाब राज्य को भारत और पाकिस्तान में दो भागों में बाँट दिया गया था। इसके साथ ही राज्य की पुरानी राजधानी लाहौर पाकिस्तान के भाग में चली गयी थी। अब भारतीय पंजाब को एक नयी राजधानी की आवश्यकता पड़ी। पूर्व स्थित शहरों को राजधानी बदलने में आने वाली बहुत सी कठिनाईयों के फलस्वरूप एक नये योजनाबद्ध राजधानी शहर की स्थापना का निश्चय किया गया तथा १९५२ में इस शहर की नींव रखी गई।[8]

उस समय में भारत में चल रही बहुत सी नवीन शहर योजनाओं में चंडीगढ़ को प्राथमिकता मिली जिसका मुख्य कारण एक तो नगर की स्थिति और दूसरा कारण तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरु का निजी रुचि होना भी रहा। नये राष्ट्र के आधुनिक प्रगतिशील दृष्टिकोण के रूप में चंडीगढ़ को देखते हुए उन्होंने शहर को अतीत की परंपराओं से उन्मुक्त, राष्ट्र के भविष्य में विश्वास का प्रतीक बताया। शहर के बहुत से खाके व इमारतों की वास्तु रचना फ्रांस में जन्में स्विस वास्तुकार व नगर-नियोजक ली कार्बुज़िए ने १९५० के दशक में की थी। कार्बुज़िए भी असल में शहर के द्वितीय वास्तुकार थे, जिसका मूल मास्टर प्लान अमरीकी वास्तुकार-नियोजक अल्बर्ट मेयर ने तब बनाया था, जब वे पोलैंड में जन्मे वास्तुकार मैथ्यु नोविकी के संग कार्यरत थे। १९५० में नोविकी की असामयिक मृत्यु के चलते कार्बूजियर को परियोजना में स्थान मिला था।

१ नवंबर, १९६६ को पंजाब के हिन्दी-भाषी पूर्वी भाग को काटकर हरियाणा राज्य का गठन किया गया, जबकि पंजाबी-भाषी पश्चिमी भाग को वर्तमान पंजाब ही रहने दिया था। चंडीगढ़ शहर दोनों के बीच सीमा पर स्थित था, जिसे दोनों राज्यों की संयुक्त राजधानी के रूप में घोषित किया गया और साथ ही संघ शासित क्षेत्र भी घोषित किया गया था। १९५२ से १९६६ तक ये शहर मात्र पंजाब की राजधानी रहा था।[9] अगस्त १९८५ में तत्कालीन प्रधान मंत्री राजीव गांधी और अकाली दल के संत हरचंद सिंह लोंगोवाल के बीच हुए समझौते के अनुसार, चंडीगढ़ को १९८६ में पंजाब में स्थानांतरित होना तय हुआ था। इसके साथ ही हरियाणा के लिए एक नयी राजधानी का सृजन भी होना था, किन्तु कुछ प्रशासनिक कारणों के चलते इस स्थानांतरण में विलंब हुआ। इस विलंब के मुख्य कारणों में दक्षिणी पंजाब के कुछ हिन्दी-भाषी गाँवों को हरियाणा और पश्चिम हरियाणा के पंजाबी-भाषी गाँवों को पंजाब को देने का विवाद था।

१५ जुलाई २००७ को चंडीगढ़ प्रथम भारतीय गैर-धूम्रपान क्षेत्र घोषित हुआ। सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान निषेध है और चंडीगढ़ प्रशासन के नियमों के तहत दंडनीय अपराध है।[10] इसका बाद २ अक्टूबर २००८ को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जन्म-दिवस पर शहर में पॉलीथीन की थैलियों के प्रयोग पर पूर्ण निषेध लागू हो गया।[11] नए चंडीगढ़, चंडीगढ़, [2] [3] के आसपास Mullanpur Garibdass के शहर के पास स्थित एक नए समाधान की पंजाब की पहली 'स्मार्ट शहर के रूप में"डिज़ाइन किया गया है। [4] [5]

पहला इको सिटी के पंजाब [संपादित करें] GMADA, ग्रेटर मोहाली क्षेत्र के स्थानीय योजना प्राधिकरण Mullanpur पहली पारिस्थितिकी & स्मार्ट सिटी पंजाब के रूप में घोषित किया था। [6] Mullanpur नए चंडीगढ़ का हिस्सा होगा। नए चंडीगढ़ के 32 गांवों से बना हो जाएगा। इस शहर का पहला चरण पहले से ही घोषित किया गया है और भूमि अधिग्रहण और प्लॉट आवंटन की प्रक्रिया शुरू की गई है। यह कई पार्कों और पर्यटन स्थल की मेजबानी करेगा। शहर के मास्टर प्लान सिंगापुर स्थित कंपनी द्वारा Jurong अंतर्राष्ट्रीय तैयार है। यह शहर मुख्य रूप से आवासीय शहर उच्च रहने के साथ के रूप में होगा। यह शहर सूचना प्रौद्योगिकी और अस्पतालों की तरह nonpolluting उद्योगों की मेजबानी करेगा। कुछ सॉफ्टवेयर कंपनियों यहाँ देश पहले से ही खरीदा है।

प्रमुख खिलाड़ी GMADA, जो पहले से ही भूमि अधिग्रहण और प्लॉट आवंटन की प्रक्रिया शुरू कर दिया है, इसके अलावा कई निजी खिलाड़ी हैं।

डीएलएफ एक 1,000 एकड़ बस्ती ऊपर सेट करने के लिए योजना बना रहा है। कंपनी पहले चरण के लिए 400 एकड़ भूमि का अधिग्रहण किया है; दूसरे चरण के लिए अधिग्रहण शीघ्र ही शुरू हो जाएगा। यूनिटेक समूह और Altus अंतरिक्ष बिल्डर्स भी आवासीय टाउनशिप विकसित कर रहे हैं। अन्य डेवलपर्स रिलायंस अनिल धीरूभाई अंबानी समूह (ADAG), Ansals और Rahejas शामिल हैं।

चंडीगढ़ (स्थानीय उच्चारण: [tʃə̃ˈɖiːɡəɽʱ] (यह ध्वनि सुनने के) के बारे में) एक शहर और एक संघ भारत के राज्यक्षेत्र कि हरियाणा और पंजाब के भारतीय राज्यों की राजधानी के रूप में कार्य करता है है। एक केंद्र शासित प्रदेश, के रूप में शहर सीधे केंद्रीय सरकार द्वारा नियंत्रित होता है और या तो राज्य का हिस्सा नहीं है।

चंडीगढ़ पंजाब उत्तर, पश्चिम और दक्षिण के लिए, और हरियाणा राज्य के पूर्व करने के लिए राज्य द्वारा bordered है। चंडीगढ़ चंडीगढ़ राजधानी क्षेत्र या ग्रेटर चंडीगढ़, चंडीगढ़, और शहर के पंचकुला (हरियाणा) में भी शामिल है जो का एक हिस्सा और Kharar, Kurali, मोहाली, (पंजाब) में ज़िरकपुर का शहर माना जाता है। यह शिमला के दक्षिण पश्चिम के अमृतसर और सिर्फ 116 मी (72 मील) दक्षिण-पूर्व स्थित 260 किमी (162 मील) उत्तर न्यू दिल्ली, 229 मी (143 मील) है।

चंडीगढ़ आजादी के बाद भारत में प्रारंभिक नियोजित शहरों में से एक था और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी वास्तुकला और शहरी डिजाइन के लिए जाना जाता है। [8] Le Corbusier, जो बदल से पहले की योजना बनाई गई स्विस-फ़्रांसीसी आर्किटेक्ट पोलिश वास्तुकार Maciej Nowicki और अमेरिकी नियोजक अल्बर्ट मेयर द्वारा द्वारा शहर का मास्टर प्लान तैयार किया गया था। अधिकांश सरकारी इमारतों और शहर में आवास चंडीगढ़ राजधानी परियोजना Le Corbusier, जेन आकर्षित और मैक्सवेल तलना द्वारा नेतृत्व टीम द्वारा डिजाइन किए गए थे। 2015 में बीबीसी द्वारा प्रकाशित लेख चंडीगढ़ वास्तुकला, सांस्कृतिक विकास और आधुनिकीकरण के मामले में दुनिया के आदर्श शहरों में से एक के रूप में नाम। [9] [10]

चंडीगढ़ के कैपिटल परिसर यूनेस्को द्वारा विश्व विरासत सम्मेलन के 40 वें सत्र में विश्व विरासत के रूप में की घोषणा की जुलाई 2016 में इस्तांबुल में आयोजित किया गया था। यूनेस्को शिलालेख "Le Corbusier आधुनिक आंदोलन करने के लिए एक उत्कृष्ट योगदान के वास्तु काम" के तहत था। कैपिटल परिसर इमारतें स्मारकों खुले हाथ के साथ साथ, शहीद स्मारक, गुणोत्तर हिल और टॉवर की छाया पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय, पंजाब और हरियाणा सचिवालय और पंजाब और हरियाणा विधानसभा शामिल हैं।

शहर देश में सबसे अधिक प्रति व्यक्ति आय में से एक है। [11] शहर एक राष्ट्रीय सरकार अध्ययन पर आधारित सबसे साफ भारत में से एक होने की सूचना दी थी। [12] [13] संघ शासित क्षेत्र भी मानव विकास सूचकांक के अनुसार भारतीय राज्यों की राजधानियां की सूची प्रमुख हैं। [14] २०१५, एलजी इलेक्ट्रॉनिक्स, द्वारा एक सर्वेक्षण में चंडीगढ़ खुशी सूचकांक पर भारत में सबसे खुशी का शहर के रूप में रैंक। [15] [16] मेट्रोपोलिटन चंडीगढ़-मोहाली-पंचकूला की सामूहिक रूप से 2 लाख से अधिक की जनसंख् या के साथ मिलाकर एक त्रि-शहर, रूपों। [17]

सामग्री [छुपाने के] 1 व्युत्पत्ति 2 इतिहास 2.1 प्रारंभिक इतिहास 2.2 आधुनिक इतिहास 3 भूगोल और पारिस्थितिकीय 3.1 स्थान 3.2 जलवायु 3.3 पारिस्थितिकी तंत्र 4 जनांकिक 4.1 जनसंख्या 4.2 भाषा 4.3 धर्म 5 अर्थव्यवस्था 5.1 रोजगार 6 राजनीति ब्याज के 7 स्थानों 7.1 सुखना झील 7.2 रॉक गार्डन 7.3 रोज गार्डन 7.4 तोता पक्षी अभयारण्य चंडीगढ़ 7.5 अवकाश घाटी 7.6 अन्य स्थलों 8 शिक्षा 9 परिवहन 9.1 रोड 9.2 हवा 9.3 रेल 10 मनोरंजन 10.1 खेल 10.2 गार्डन चंडीगढ़ से 11 उल्लेखनीय लोग 12 गैलरी 13 यह भी देखें 14 नोट्स 15 संदर्भ 16 आगे पठन 17 बाह्य लिंक व्युत्पत्ति [संपादित करें] नाम चंडीगढ़ चण्डी और गढ़ का एक सूटकेस है। चण्डी हिंदू देवी चण्डी, योद्धा देवी पार्वती का अवतार और गढ़ का मतलब है घर के लिए संदर्भित करता है। [18] नाम चंडी मंदिर, एक प्राचीन मंदिर हिंदू देवी चण्डी, पंचकुला जिले में शहर के पास करने के लिए समर्पित से ली गई है। [19]

"सिटी सुंदर" के लोगो कि उत्तरी अमेरिकी शहरी 1890 और 1900s के दौरान योजना में एक लोकप्रिय दर्शन था शहर सुंदर आंदोलन से निकला है। वास्तुकार अल्बर्ट मेयर, चंडीगढ़, के प्रारंभिक योजनाकार शहर सुंदर अवधारणाओं की अमेरिकी अस्वीकृति का कहना था और घोषणा की "हम एक सुंदर शहर बनाने के लिए चाहते हैं" [20] वाक्यांश पर आधिकारिक प्रकाशनों में एक लोगो के रूप में 1970 के दशक में इस्तेमाल किया गया था, और अब है कैसे शहर ही का वर्णन करता है। [21] [22]

इतिहास [संपादित करें] प्रारंभिक इतिहास [संपादित करें] शहर के एक पूर्व ऐतिहासिक अतीत है। झील की उपस्थिति के कारण, क्षेत्र जीवाश्म अवशेष निशान जलीय पौधों और पशुओं, और उभयचर जीवन, जो कि पर्यावरण द्वारा समर्थित थे की एक विशाल विविधता के साथ है। यह पंजाब क्षेत्र का एक हिस्सा था के रूप में, यह कई नदियाँ कहाँ शुरू हुआ प्राचीन और आदिम मनुष्य के बसने के पास था। तो, लगभग 8000 साल पहले, क्षेत्र भी एक घर हड़प्पावासियों के लिए किया जा करने के लिए जाना जाता था। [23]

आधुनिक इतिहास [संपादित करें]

1909 में ब्रिटिश पंजाब प्रांत का एक नक्शा। विभाजन के दौरान भारत रेडक्लिफ रेखा पर, पश्चिमी पंजाब, पाकिस्तान में लाहौर, पंजाब प्रांत की राजधानी गिर गया। आवश्यकता है तो, भारत में पूर्वी पंजाब के लिए एक नई राजधानी चंडीगढ़ के विकास के लिए नेतृत्व किया। चंडीगढ़ ड्रीम सिटी के भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू था। भारत विभाजन के बाद 1947 में, पंजाब के पूर्व ब्रिटिश प्रांत (ज्यादातर सिखों के बीच) विभाजित था भारत में पूर्वी पंजाब और पाकिस्तान में (अधिकतर मुस्लिम) पश्चिम पंजाब। [24] भारतीय पंजाब लाहौर, जो विभाजन के दौरान पाकिस्तान का हिस्सा बन गया की जगह एक नई राजधानी की आवश्यकता है।

भूगोल तथा जलवायुसंपादित करें

 
सुखना झील

चंडीगढ़ हिमालय की शिवालिक पर्वतमाला की तराई में भारत के उत्तर-पश्चिम में स्थित है। शहर का क्षेत्रफ़ल लगभग ४४ वर्ग मील (११४ कि॰मी॰²) है। इसकी सीमाएं पूर्व में हरियाणा, उत्तर, पश्चिम और दक्षिण में पंजाब (भारत) से लगती हैं। शहर के सही सही भूगोलीय निर्देशांक 30°44′N 76°47′E / 30.74°N 76.79°E / 30.74; 76.79 हैं।[12] यहाँ समुद्र-सतह से औसत ऊंचाई ३२१ मी.(१०५३ फीट) है।

चंडीगढ़
जलवायु सारणी (व्याख्या)
मा जू जु सि दि
 
 
33
 
20
6
 
 
39
 
23
8
 
 
30
 
28
13
 
 
9
 
35
19
 
 
28
 
38
23
 
 
145
 
39
25
 
 
280
 
34
24
 
 
308
 
33
23
 
 
133
 
33
22
 
 
22
 
32
17
 
 
9
 
27
11
 
 
22
 
22
7
औसत अधिकतम एवं न्यूनतम तापमान (°से.)
कुल वर्षा (मि.मी)
स्रोत: World Weather Information Service

शहर के समीपस्थ जिलों में हरियाणा के अंबाला और पंचकुला तथा पंजाब के मोहाली, पटियाला और रोपड़ जिले हैं। इसके उत्तरी भाग से हिमाचल प्रदेश की सीमाएं अधिक दूर नहीं हैं। शहर की जलवायु उप-उष्णकटिबन्धीय महाद्वीपीय मानसून प्रकार की है; जिसमें ऊष्म ग्रीष्म काल, कुछ शीतल शीतकाल, अविश्वसनीय वर्षा और तापमान में बड़े अंतर (-१ °से. सेo ४१.२ °से.) का अनुमान रहता है। शीतकाल में दिसम्बर व जनवरी के माह में कभी-कभार कोहरा हो सकता है। औसत वार्षिक वर्षा १११०.७ मि.मी होती है। शहर को कई बार पश्चिम से लौटते मानसून की शीतकालीन वर्षा का अनुभव भी मिलता है।

औसत तापमान

  • वसंत: वसंत ऋतु (मध्य-फरवरी से मध्य मार्च और फिर मध्य सितंबर से मध्य अक्टूबर तक) में मौसम सुहावना रहता है। अधिकतम तापमान १६° सेंटीग्रेड से २५° सेंटीग्रेड और न्यूनतम तापमान ९° सेंटीग्रेड से १८° सेंटीग्रेड के बीच रहता है।
  • पतझड़: ऑटम में (मध्य मार्च-अप्रैल), तापमान अधिकतम ३६° सेंटीग्रेड तक पहुंच सकता है। इस समय न्यूनतम तापमान १६° से २७° तक रहता है। वैसे न्यूनतम अंकित तापमान १३°से. है।
  • ग्रीष्म: ग्रीष्म-काल में (मध्य मई से मध्य जून) तापमान ४६.५° सेंटीग्रेड (कदाचित) तक जा सकता है। सामान्यतः तापमान ३५° सेंटीग्रेड से ४०° सेंटीग्रेड के बीच रहता है।
  • वर्षा: मानसून के दौरान (मध्य जून से मध्य सितंबर), शहर को मध्यम से भारी वर्षा मिलती है, जो कभी कभार भारी से अत्यधिक भारी भी हो सकती है (प्रायः अगस्त या सितंबर)। सामान्यतः आर्द्र मानसून वायु दक्षिण-पश्चिम/ दक्षिण-पूर्व से बहती है। शहर को भारी वर्षा दक्षिण वायु से मिलती है, किन्तु मानसून की वर्षा उत्तर-पश्चिम उआ उत्तर-पूर्व दिशा से आती है। मानसून काल में चंडीगढ़ में हुई एकदिवसीय अधिकतम वर्षा १९५.५ मि.मी अंकित है।
  • शीतकाल: यहाँ जाड़े (नवंबर से मध्य मार्च) अच्छे ठंडे होते हैं और ये कई बार बहुत ठंडे भी हो सकते हैं। शीतकालीन औसत तापमान (अधिकतम) ७° सेंटीग्रेड से १५° सेंटीग्रेड एवं (न्यून) -२° सेंटीग्रेड से ५° सेंटीग्रेड तक हो सकता है। इस समय वर्षाएं कम ही होती हैं, किन्तु २-३ दिवसीय वर्षा संभव है, जो ओले और आंधी के संग पश्चिम से आ सकती है।

पादप और जंतुसंपादित करें

 
वन में संभर
 
कैसिया फिस्टुला चंडीगढ़ में

अधिकांश चंडीगढ़ बरगद और यूकेलिप्टस के बगीचों से भरा हुआ है। अशोक, कैसिया, शहतूत व अन्य वृक्ष भी यहाँ की शोभा बढ़ाते हैं। शहर को घेरे हुए बड़ा वन्य-क्षेत्र है जिसमें अनेक जंतु व पादप प्रजातियां फलती-फूलती हैं। हिरण, सांभर, कुत्ता हरिण, तोते, कढ़फोड़वे एवं मोर संरक्षित वनों में निवास करते हैं। सुखना झील में बत्तखों और गीज़ प्रवासी पक्षियों को आकर्षित करते हैं, जो जापान और साईबेरिया क्षेत्रों से उड़कर जाड़ों में यहाँ आते हैं व झील की शोभा बढ़ाते हैं। शहर में एक शुक अभयारण्य भी है, जिसमें पक्षियों कि अनेक प्रजातियां देखने को मिलती हैं।

प्रशासनसंपादित करें

चंडीगढ़ प्रशासन संविधान की धारा २३९ के तहत नियुक्त किये गए प्रशासक के अधीन कार्यरत है। शहर का प्रशासनिक नियंत्रण भारत सरकार के गृह मंत्रालय के पास है। वर्तमान में पंजाब के राज्यपाल ही चंडीगढ़ के प्रशासक होते हैं। प्रशासक का सलाहकार एक अखिल भारतीय सेवाओं से नियुक्त अति-वरिष्ठ अधिकारी होता है। ये अधिकारी प्रशासक के बाद सर्वे-सर्वा होता है। इस अधिकारी का स्तर भारतीय प्रशासनिक सेवा में ए.जी.एम.यू कैडर का होता है।

 
चंडीगढ़ उच्च न्यायालय
  • उपायुक्त: भारतीय प्रशासनिक सेवा का अधिकारी जो चंडीगढ़ के सामान्य प्रशासन की देखरेख करता है।
  • वन उपसंरक्षक: भारतीय वन सेवा का अधिकारी, जो वन्य प्रबंधन, पर्यावरण, वन्य-जीवन एवं प्रदूषण नियंत्रण के लिए उत्तरदायी होता है।
  • वरिष्ठ अधीक्षक (पुलिस): भारतीय पुलिस सेवा का अधिकारी, जो शहर में विधि एवं न्याय व्यवस्था बनाये रखने एवं संबंधित विषयों के लिए उत्तरदायी होता है।

उपरोक्त तीन अधिकारी अखिल भारतीय सेवाओं के ए.जी.एम.यू, हरियाणा या पंजाब कैडर से होते हैं।

जनसांख्यिकीसंपादित करें

२००१ की भारत की जनगणना के अनुसार,[14] चंडीगढ़ की कुल जनसंख्या ९,००,६३५ है, जिसके अनुसार ७९०० व्यक्ति प्रति वर्ग कि॰मी॰ का घनत्व होता है। इसमें पुरुषों का भाग कुल जनसंख्या का ५६% और स्त्रियों का ४४% है। शहर का लिंग अनुपात ७७७ स्त्रियां प्रति १००० पुरुष हैं, जो देश में न्यूनतम है। औसत साक्षरता दर ८१.९% है, जो राष्ट्रीय औसत साक्षरता दर ६४.८ से अधिक है। इसमें पुरुष दर ८६.१% एवं स्त्री साक्षरता दर ७६.५% है। यहाँ की १२% जनसंख्या छः वर्ष से नीचे की है। मुख्य धर्मों में हिन्दू (७८.६%), सिख (१६.१%), इस्लाम (३.९%) एवं ईसाई (०.८% हैं।[15] हिन्दी एवं पंजाबी चंडीगढ़ की बोली जाने वाली प्रमुख भाषाएं हैं, हालाँकि आजकल अंग्रेज़ी भी प्रचलित होती जा रही है। तमिल-भाषी लोग तीसरा सबसे बड़ा समूह बनाते हैं। शहर के लोगों का एक छोटा भाग उर्दु भी बोलता है।

चंडीगढ़ में रहने वाले हरियाणा व पंजाब के प्रवासी लोग भी बड़े प्रतिशत में हैं, जो यहाँ की व्यावसायिक रिक्तियों को भरने हेतु व धनोपार्जन में लगे हैं। ये लोग शहर के विभिन्न सरकारी विभागों व निजी व्यवसायों में कार्यरत हैं।

अर्थ-व्यवस्थासंपादित करें

शिक्षासंपादित करें

चंडीगढ़ समस्त उत्तर भारत में एक प्रमुख शिक्षा केंद्र के रूप में जाना जाता है। नज़दीकी राज्यों पंजाब, हरियाणा, हिमाचल, जम्मू-कश्मीर व उत्तराखण्ड आदि से भारी संख्या में विद्यार्थी यहाँ आते हैं।

यातायातसंपादित करें

 
चंडीगढ़ की एक सड़क

पर्यटनसंपादित करें

 
रॉकगार्डन

पंजाब और हरियाणा की राजधानी चंडीगढ़ भारत के सबसे खूबसूरत और नियोजित शहरों में एक है। इस केन्द्र शासित प्रदेश को प्रसिद्ध फ़्रांसीसी वास्तुकार ली कोर्बूजियर ने अभिकल्पित किया था। इस शहर का नाम एक दूसरे के निकट स्थित चंडी मंदिर और गढ़ किले के कारण पड़ा जिसे चंडीगढ़ के नाम से जाना जाता है। शहर में बड़ी संख्या में पार्क हैं जिनमें लेसर वैली, राजेन्द्र पार्क, बॉटोनिकल गार्डन, स्मृति उपवन, तोपियारी उपवन, टेरस्ड गार्डन और शांति कुंज प्रमुख हैं। चंडीगढ़ में ललित कला अकादमी, साहित्य अकादमी, प्राचीन कला केन्द्र और कल्चरल कॉम्प्लेक्स को भी देखा जा सकता है।

कैपिटल कॉम्प्लैक्ससंपादित करें

यहाँ हरियाणा और पंजाब के अनेक प्रशासनिक भवन हैं। विधानसभा, उच्च न्यायालय और सचिवालय आदि इमारतें यहाँ देखी जा सकती हैं। यह कॉम्प्लेक्स समकालीन वास्तुशिल्प का एक बेहतरीन उदाहरण है। यहाँ का ओपन हैंड स्मारक कला का उत्तम नमूना है।

21 जून 2016 को द्वितीय अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का प्रमुख आयोजन करने के लिए इसी स्थान को चुना गया। यहाँ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ३०,००० प्रतिभागियों के साथ योग किया।[16] [17]

कैपिटल कॉम्प्लेक्स को २०१६ में यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल घोषित किया गया।

रॉक गार्डनसंपादित करें

चंडीगढ़ आने वाले पर्यटक रॉक गार्डन आना नहीं भूलते। इस गार्डन का निर्माण नेकचंद ने किया था। इसे बनवाने में औद्योगिक और शहरी कचरे का इस्तेमाल किया गया है। पर्यटक यहाँ की मूर्तियों, मंदिरों, महलों आदि को देखकर अचरज में पड़ जातें हैं। हर साल इस गार्डन को देखने हजारों पर्यटक आते हैं। गार्डन में झरनों और जलकुंड के अलावा ओपन एयर थियेटर भी देखा जा सकता, जहाँ अनेक प्रकार की सांस्कृतिक गतिविधियां होती रहती हैं।

रोज़ गार्डनसंपादित करें

जाकिर हुसैन रोज़ गार्डन के नाम से विख्यात यह गार्डन एशिया का सबसे बड़ा रोज़ गार्डन है। यहाँ गुलाब की 1600 से भी अधिक किस्में देखी जा सकती हैं। गार्डन को बहुत खूबसूरती से डिजाइन किया गया है। अनेक प्रकार के रंगीन फव्वारे इसकी सुंदरता में चार चाँद लगाते हैं। हर साल यहाँ गुलाब पर्व आयोजित होता है। इस मौके पर बड़ी संख्या में लोगों का यहाँ आना होता है।

सुखना झीलसंपादित करें

यह मानव निर्मित झील 3 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैली हुई है। इसका निर्माण 1958 में किया गया था। अनेक प्रवासी पक्षियों को यहाँ देखा जा सकता है। झील में बोटिंग का आनंद लेते समय दूर-दूर फैले पहाड़ियों के सुंदर नजारों के साथ-साथ सूर्यास्त के नजारे भी यहाँ से बड़े मनमोहक दिखाई देते हैं।

संग्रहालयसंपादित करें

चंडीगढ़ में अनेक संग्रहालय हैं। यहाँ के सरकारी संग्रहालय और कला दीर्घा में गांधार शैली की अनेक मूर्तियों का संग्रह देखा जा सकता है। यह मूर्तियां बौद्ध काल से संबंधित हैं। संग्रहालय में अनेक लघु चित्रों और प्रागैतिहासिक कालीन जीवाश्म को भी रखा गया है। अन्तर्राष्ट्रीय डॉल्स म्युजियम में दुनिया भर की गुडियाओं और कठपुतियों को रखा गया है।

सुखना वन्यजीव अभयारण्यसंपादित करें

लगभग 2600 हेक्टेयर में फैले इस अभयारण्य में बड़ी संख्या में वन्यजीव और वनस्पतियां पाई जाती हैं। मूलरूप से यहाँ पाए जाने वाले जानवरों में बंदर, खरगोश, गिलहरी, साही, सांभर, भेड़िए, जंगली शूकर, जंगली बिल्ली आदि शामिल हैं। इसके अलावा सरीसृपों की अनेक प्रजातियों भी यहाँ देखी जा सकती हैं। अभयारण्य में पक्षियों की विविध प्रजातियों को भी देखा जा सकता है।

राजनीतिसंपादित करें

भारत की लोकसभा में चण्डीगढ़ के लिए एक सीट आवंटित है। वर्तमान सोलहवीं लोकसभा में यहाँ का प्रतिनिधित्व श्रीमती किरण खेर कर रही हैं जो कि भारतीय जनता पार्टी से संबद्ध हैं। इससे पहले कांग्रेस के श्री पवन बंसल यहाँ से साँसद थे जो कि एक समय में भारत के रेल मंत्री भी बने।

पंजाब के राज्यपाल ही चण्डीगढ़ के प्रशासक होते हैं। वर्तमान में चण्डीगढ़ के प्रशासक श्री वी पी सिंह बदनौर हैं।

हरियाणा तथा पंजाब की संयुक्त राजधानी होने के कारण राजनीतिक रूप से दोनों ही प्रदेशों के नेता इस शहर पर अपना-अपना दावा जताते रहते हैं।

आवागमनसंपादित करें

वायु मार्ग

चंडीगढ़ एयरपोर्ट सिटी सेंटर से करीब 11 किलोमीटर की दूरी पर, दिल्ली मार्ग पर है। देश के प्रमुख शहरों से यहाँ के लिए नियमित उड़ानें हैं।

रेल मार्ग

चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन सिटी सेंटर से करीब 8 किलोमीटर दूर स्थित है। यह रेलवे स्टेशन शहर को देश के अन्य हिस्सों से रेलमार्ग द्वारा जोड़ता है। दिल्ली से यहाँ के लिए प्रतिदिन ट्रेने हैं।

सड़क मार्ग

राष्ट्रीय राजमार्ग 21 और 22 चंडीगढ़ को देश के अन्य हिस्सों से सड़क मार्ग द्वारा जोड़ते हैं। दिल्ली, जयपुर, ग्वालियर, जम्मू, शिमला, कुल्लू, कसौली, मनाली, अमृतसर, जालंधर, लुधियाना, हरिद्वार, देहरादून आदि शहरों से यहाँ के लिए नियमित बस सेवाएं हैं।

खेलकूद के स्थानसंपादित करें

प्रमुख उद्यानसंपादित करें

  • रोज गार्डन, सेक्टर 16
  • बोगनवेलिया गार्डन, सेक्टर 3
  • जापानी उद्यान, सेक्टर 16
  • टोपियरी गार्डन, सेक्टर 35
  • फ्रैगरेंस गार्डन, सेक्टर 36
  • लीजर वैली, सेक्टर 10
  • म्यूजिकल फाउंटेन पार्क, सेक्टर 33
  • सुखना लेक उद्यान, सेक्टर 6
  • कैक्टस गार्डन पंचकुला
  • राक गार्डन चंडीगढ़, सेक्टर 1
  • राजेन्द्र उद्यान, सेक्टर 1
  • सिल्वी पार्क, फेज 10 मोहाली
  • बोटैनिकल गार्डन, खुड्डा लाहोरा

चंडीगढ़ से प्रकाशित प्रमुख (दैनिक) समाचारपत्रसंपादित करें

प्रमुख नागरिकसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. http://www.census2011.co.in/city.php
  2. http://www.census2011.co.in/states.php
  3. "Report of the Commissioner for linguistic minorities: 50th report (July 2012 to June 2013)" (PDF). Commissioner for Linguistic Minorities, Ministry of Minority Affairs, Government of India. http://nclm.nic.in/shared/linkimages/NCLM50thReport.pdf. अभिगमन तिथि: 23 अप्रैल 2017. 
  4. आधिकारिक सरकारी जालस्थल
  5. भारतीय चुनाव आयोग की अधिसूचना, नई दिल्ली
  6. भारत का व्यवसाय पोर्टल, (अंग्रेज़ी)
  7. [1]
  8. http://chandigarh.nic.in/knowchd_general.htm
  9. चंडीगढ़ सरकार प्रशासन जालस्थल
  10. http://timesofindia.indiatimes.com/Cities/Chandigarh/Smoke_out_smoking_violations_/articleshow/3551323.cms
  11. http://chandigarh.nic.in/WriteReadData%5Cnotification%5Cnot_env684_300708.pdf
  12. फॉलिंग रेन जीनोमिक्स, इंक - चंडीगढ़
  13. "Census population" (PDF). Census of India. http://sampark.chd.nic.in. http://sampark.chd.nic.in/images/State_2006/StatisticalAbstract2004/Areapopulation/area_pop_tab2.1.pdf. अभिगमन तिथि: 2008-06-04. 
  14. "भारत की जनगणना २००१: २००१ की जनगणना के आँकड़े, महानगर, नगर और ग्राम सहित (अनंतिम)". भारतीय जनगणना आयोग. http://web.archive.org/web/20040616075334/www.censusindia.net/results/town.php?stad=A&state5=999. अभिगमन तिथि: 2007-09-03. 
  15. भारतीय जनगणना
  16. "प्रधानमंत्री ने चंडीगढ़ में अंतर्राष्‍ट्रीय योग दिवस मनाया, कैपिटल कॉम्‍प्‍लेक्‍स में सामूहिक योग प्रदर्शन में भाग लिया". पत्र सूचना कार्यालय, भारत सरकार. 21 जून 2016. http://pib.nic.in/newsite/hindirelease.aspx?relid=52535. अभिगमन तिथि: 22 जून 2016. 
  17. "योग जीरो बजट में हेल्थ इंश्योरेंस देता है : अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर पीएम नरेंद्र मोदी". एनडीटीवी खबर. http://khabar.ndtv.com/news/india/yoga-day-prime-minister-participates-in-chandigarh-event-winner-participant-will-be-awarded-1421392. अभिगमन तिथि: 22 जून 2016. 

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें